बक्‍सर बिहार; पहले DM अब OSD ने किया सुसाइड

 63 

बिहार के बक्सर में जिलाधिकारी के विशेष कार्य पदाधिकारी (OSD) तौकीर अकरम ने सुसाइड कर लिया। रविवार की सुबह अपने आवास पर उनका शव फंदे से लटकता हुआ मिला। इसी वर्ष दस अगस्त को बक्सर के तत्‍कालीन DM मुकेश पांडेय ने सुसाइड किया था और इसी जिले के एक अन्य अधिकारी ने भी हाल ही में सुससाइ की धमकी दी थी।


बताया जा रहा है कि तौकीर ने सुसाइड नोट छोड़ा है। मृतक बक्‍सर के जिला भूअर्जन पदाधिकारी भी थे। वे कल ही रात किसी मीटिंग में शामिल होने के बाद पटना से बक्सर लौटे थे। घटना देर रात से सुबह के बीच की बताई जा रही है। बताया जाता है कि तौकीर देर रात अपने बेड रूम में गए थे, उसके बाद उन्‍होंने पंखे से लटककर जान दे दी। चरित्रवन स्थित वीर कुंवर सिंह कालोनी में उनके माता-पिता घर में साथ ही रहते थे। उनकी मां बीमार रहती थीं, जबकि पत्‍नी चार दिन पहले छपरा अपने मायके गईं थीं।
पुलिस को बरामद सुसाइड नोट में OSD ने घटना के लिए किसी को जिम्मेवार नहीं ठहराया है। उन्होंने लिखा है कि वे खुद की इच्छा से खुदकशी कर रहे हैं। तौकीर अकरम जिला भू-अर्जन पदाधिकारी के प्रभार में भी थे। पटना-बक्सर फोरलेन के भूमि-अधिग्रहण कार्य की जिम्मेवारी भी देख रहे थे। फोरलेन में किसी रैयती किसान के भुगतान में विवाद को लेकर कोर्ट ने मामला सुलझने तक उनके आधे वेतन के भुगतान पर रोक लगा दी थी और पिछले सात महीने से उनको आधे वेतन पर काम करना पड़ रहा था।
हालांकि, उनकी मां का कहना है कि तौकीर बराबर काम के दबाव का जिक्र करता था। उनका बेटा काम के काफी दबाव में था। वह बराबर इसका जिक्र करता था। उसके पास कई विभागों का प्रभार था। वह कहता था गोपनीय प्रशाखा में भी काम अधिक है। मां ने यह भी बताया कि उन्होंने एक बार अकरम से कहा भी था कि वह काम की बाबत खुद डीएम से बात करेंगी लेकिन बेटे ने मना कर दिया था। मां ने बताया कि उनके बेटे को वेतन भी नहीं मिल रहा था। वह मानसिक प्रताड़ना में था।

बक्‍सर DM अरविंद कुमार वर्मा ने घटना को दुखद और हैरान करने वाला बताते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा कदम क्यों उठाया इसकी पूरी जांच की जा रही है। काम के दबाव की बाबत उन्होंने कभी जिक्र नहीं किया, हाँलाकि ऐसी कोई बात नहीं कि काम का लोड ज्यादा हो। किसी भी अधिकारी के पास दो-तीन प्रभार होना सामान्य बात है। DM ने घटना के पीछे कोई सरकारी कारण होने से इन्‍कार किया।
बक्‍सर के प्रभारी SP अवकाश कुमार ने कहा कि घटना की जांच फारेंसिक टीम कर रही है। सुसाइड नोट की भी जांच कराई जा रही है। घटना की वजह को लेकर अभी पुलिस किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है।
ज्ञात है कि इसी वर्ष दस अगस्त को बक्सर के तत्‍कालीन DM मुकेश पांडेय ने घरेलू कलह से तंग आकर ट्रेन से कटकर सुसाइड कर लिया था। पिछले दिनों भवन निर्माण विभाग के एक अधिकारी पवन कुमार ने अपने कार्यपालक अभियंता के व्यवहार और वेतन रोके जाने से क्षुब्ध होकर सुसाइड की धमकी दी थी। अब बक्सर के दूसरे प्रशासनिक अधिकारी के सुसाइड से जिला सुर्खियों में आ गया है और पुरे जिले में हड़कंप मच गया है। DM समेत तमाम वरीय अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे हैं और मामले की हर स्तर पर जाँच हो रही है।


हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *