फ्यूल प्राइस को GST में लाने पर होगा विचार, डेली रिवीजन रहेगा जारी : धर्मेंद्र प्रधान

 78 


पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि उनका मंत्रालय चाहता है कि पेट्रोल और डीजल को भी GST के दायरे में लाना चाहिए क्योंकि इससे एक तय टैक्स ही इन फ्यूल प्रोडक्ट्स पर लगेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों की डेली रिवीजन पॉलिसी में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। प्रधान का यह बयान ऐसे वक्त आया है जब देश में फ्यूल प्राइस तीन साल में सबसे ज्यादा हो गई
पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच सरकार भी अलर्ट नजर आ रही है। देश में फ्यूल प्राइस तीन साल में सबसे ज्यादा होने के मद्देनजर अफसरों की हाईलेवल मीटिंग करने के बाद प्रधान ने कहा कि सरकार पेट्रोल और डीजल को GST में लाने पर विचार करेगी। ताकि, इन पर लगने वाले टैक्स का लेवल तय किया जा सके।


प्रधान ने कहा कि डायनमिक प्राइस का फाॅर्मूला काफी ट्रांसपेरेंट है, जिसे बदला नहीं जा सकता। इसका फायदा फौरन ग्राहकों को दिया जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले 3 महीने में पेट्रोल की कीमतें दुनियाभर में बढ़ी हैं। US में आए तूफान की वजह से भी रेट्स बढ़े हैं। प्रधान ने इस मसले पर दखल देने से इनकार करते हुए कहा कि दुनियाभर में पेट्रोल की बढ़ी कीमतों का असर भारत में भी हुआ है।
सरकार ने 16 जून से डायनमिक फ्यूल प्राइस का फॉर्मूला अपनाया था, जिसमें डेली बेसिस पर पेट्रोल और डीजल की कीमते रिव्यू हो रही हैं। यह फैसला लागू होने के बाद से 1 जुलाई के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 7.29 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ चुकी हैं। डीजल की कीमतों में 1 जुलाई के बाद से 5.36 रुपए प्रति लीटर तक की बढ़ोत्तरी हुई है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें बढ़कर 70.38 रुपए प्रति लीटर हो गई हैं। इससे पहले अगस्त 2014 में दिल्ली में पेट्रोल 70.33 रुपए प्रति लीटर पहुंचा था।
ज्ञातव्य है कि भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमतें इंटरनेशनल मार्केट पर डिपेंड हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतें मुख्‍य तौर पर क्रूड और रुपए पर डिपेंड हैं. पिछले 6 महीने में क्रूड में 1.36% की गिरावट रही है, वहीं, रुपया पिछले 6 महीने में 2.94% मजबूत हुआ है। इसके बाद भी कीमतें बढ़ रही हैं, जो चिंताजनक है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *