प्रधानमंत्री ने गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वे, 500 करोड़ तत्काल राहत

 108 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया और प्रदेश में बाढ़ की वीभिषिका को देखते हुए 500 करोड़ रुपए के तत्काल राहत पैकेज की घोषण की.
PM ने एयरपोर्ट पर ही राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपानी, सभी मंत्री और राज्य के अन्य अधिकारियों से बाढ़ बचाव राहत कार्य की जानकारी ली. विजय रुपानी ने मंगलवार को ही संसद भवन में पीएम मोदी से इसको लेकर मुलाकात की थी, जिसके बाद मोदी ने गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे का फैसला लिया.
मोदी ने हवाई सर्वे के बाद कहा कि प्राकृतिक आपदा का सबसे ज्यादा शिकार किसान हुआ है. केंद्र सरकार गुजरात सरकार की हरसंभव मदद करेगी. केंद्र और राज्य के अधिकारी मिलकर काम करेंगे. PM ने घोषणा की कि बाढ़ में मरने वालों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष से दिए जाएंगे. पीड़ितों की हरसंभव मदद की जाएगी.


सौराष्ट्र के बाद बारिश ने उत्तर गुजरात में कहर बरपाया है. भारी बारिश की वजह से बनासकांठा का धानेरा पूरी तरह पानी में डूब गया है. सोमवार रात से लगातार बारिश के चलते फंसे लगभग 1,000 को बचाया गया 25,000 से ज्यादा लोगों को सुरिक्षत स्थान पर ले जाया गया. इस बारिश से उत्तर गुजरात विशेषकर प्रभावित हुआ है. इस बीच प्रशासन ने भारी बारिश की संभावना के चलते सौ से ज्यादा गांवों को खाली करने का आदेश दिया गया है. मानसून की इस बारिश में अब तक मरने वालों की तादाद 70 तक पहुंच चुकी है.
धानेरा में बाढ़ ने ऐसा कहर बरपाया है कि लोग अपने घरों के अंदर भी सुरक्षित नहीं हैं. दरअसल पिछले 24 घंटों के भीतर धानेरा में 250 एमएम, पालनपुर में 255 एमएम, दांतिवाडा में 342 एमएम बारिश दर्ज की गई. घरों में पानी भर जाने की वजह से लोग छत पर रहने को मजबूर हैं. प्रशासन ने ऐहतियाती कदम उठाते हुए बीके जिले में अब तक लगभग 10300 लोगों को सुरिक्षित स्थानों पर शिफ्ट कराया. वहीं मोरबी जिले से 950 लोगों को शिफ्ट किया गया. पाटन जिले से भी 9790 लोगों को शिफ्ट किया गया.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *