प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) (शहरी) के अंतर्गत सस्ते आवासों के लिए कॉमन सर्विसिस सेंटर (CAC) में शहरी गरीब आज से ऑनलाइन आवेदन करेंगे।

केंद्रीय आवास एवं शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय व इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कॉमन सर्विसिस सेंटर ई-गवर्नेस सर्विसिस इंडिया लिमिटेड ने इस संबंध में बुधवार को संबंधित मंत्रियों एम वैंकेया नायडू और रवि शंकर प्रसाद की उपस्थिति में एक समझौता ज्ञापन (MOU) पर हस्ताक्षर किए।

देशभर में फैले दो लाख से अधिक कॉमन सर्विसिस सेंटर (सीएससी) में से लगभग 60 हजार सेंटर शहरी क्षेत्रों में हैं, जहां आज से मात्र 25 रुपये प्रति आवेदन की दर से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। इसका मकसद मोदी सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम के दायरे में और लोगों को लाना है।

कॉमन सर्विसिस सेंटर लाभार्थी को प्राप्ति रसीद उपलब्ध कराएगी, जिससे आवेदक को अपने आवेदन की स्थिति जानने में मदद मिलेगी। लाभार्थी ऑनलाइन PMAY (शहरी) के फायदे के बारे में जानकारी लेने के लिए नजदीकी सेंटर जा सकते हैं। अगर लाभार्थी के पास आधार कार्ड नहीं है तो सेंटर इसे पाने में लाभार्थी की मदद करेगा। ऑनलाइन आवेदन करने की यह प्रक्रिया ई-केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) समर्थ है, जिसका मतलब यह है कि यह आवेदन विधिवत सत्यापित करने के बाद प्रस्तुत किया गया है।

नायडू ने कहा कि इस कवायद का मकसद सरकार की सेवा बिना किसी अड़चन या दिक्कत के लोगों तक पहुंचाना है। उन्होंने यह भी कहा कि सीधे ऑनलाइन आवेदन सुपुर्दगी से संबंधित प्राधिकार को लाभार्थियों का संज्ञान लेने और आवेदन पर तेजी से काम करने में सक्षम बनाएगा। उन्होंने कहा, ‘इस भागीदारी से शहरी स्थानीय निकायों में आवेदन देने से जुड़ी दिक्कतों के समाधान में समुचित सहायता और मार्गदर्शन के जरिए और शहरी गरीबों को पीएमएवाई के दायरे में लाने में मदद मिलेगी।’नायडू ने जोर देकर कहा कि डिजिटल इंडिया मिशन देश को बदल रहा है।

नायडू ने इस अवसर पर कहा कि डिजिटल इंडिया मिशन देश में बदलाव ला रहा है। जहां 2005-14 के दौरान 13.70 लाख शहरी गरीबों के लिए किफायती आवासों के लिए मंजूरी दी गई थी, वहीं पिछले एक साल में शहरी गरीबों के लिए लगभग 11 लाख आवासों को मंजूरी दी जा चुकी है और ऑनलाइन आवेदन से यह संख्या और बढ़ेगी।

केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि CSC डिजिटल इंडिया मिशन का अग्रदूत है। कौशल और ऑनलाइन सेवा आपूर्ति के जरिए यह समाज के विभिन्न वर्गो को सशक्त बना रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *