पेट्रोल की कीमत कम करने के लिए सरकार ने बना लिया ये ‘बिग’ प्लान

 63 

पेट्रोल और डीजल की दिन पर दिन बढ़ती कीमतों से परेशान जनता को राहत देने के लिए सरकार नए प्लान पर काम कर रही है. तेल की बढ़ती कीमतों पर रोक लगाने के लिए सरकार इसका वायदा कारोबार करने के लिए मंजूरी दे चुकी है. इसके बाद उम्मीद है कि सेबी की अंतिम मंजूरी भी इसे जल्द ही मिल जाएगी. लगातार 16वें दिन मंगलवार को पेट्रोल और डीजल के रेट में बढ़ोतरी दर्ज की गई. मंगलवार दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 78.43 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 86.24 रुपये रही. वहीं दिल्ली में डीजल 69.31 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 73.79 रुपये बिक रहा है.
इस बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने जी न्यूज से बातचीत करते हुए कहा सरकार स्थायी समाधान निकालने की कोशिश में लगी हुई है. तेल की कीमते वायदा बाजार के अंतर्गत आती हैं तो इससे कीमतों पर लगाम लगाई जा सकेगी. आईसीईएक्स के प्रबंध निदेशक और सीईओ संजीत प्रसाद ने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय ने पेट्रोल और डीजल में वायदा बाजार शुरू करने के लिये मंजूरी दे दी है. हमें उम्मीद है कि इसमें सेबी अंतिम मंजूरी जल्द दे देगा. प्रसाद ने कहा, ‘अगर सेबी फ्यूचर कारोबार के लिए हरी झंडी देती है तो एक्सचेंज इसे जल्द ही लॉन्च कर देगा.’ उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम मंत्रालय ने यह फैसला तेल विपणन कंपनियों और दूसरे विशेषज्ञों के साथ विचार विमर्श के बाद लिया है. ईंधन में वायदा कारोबार शुरू होने से तेल के दाम में होने वाले उतार चढ़ाव के जोखिम को कम करने में मदद मिलेगी.
पेट्रोल और डीजल का वायदा कारोबार शुरू होने से ग्राहक इसे निर्धारित कीमत पर खरीदने के साथ ही अपनी मर्जी के अनुसार डिलीवरी ले सकता है. उदाहरण के लिए ग्राहक एक तय कीमत पर पेट्रोल और डीजल खरीदने के बाद उसकी डिलीवरी 25 दिन बाद भी करवा सकता है. ऐसे में उसने जिस दिन इसे खरीदा है उसे बाद में उसी रेट पर डिलीवरी होगी. बाजार में रेट बढ़ने या घटने का कीमतों पर असर नहीं पड़ेगा.

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *