पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने भारत के साथ मजबूत रिश्तों की वकालत की है. साथ ही कहा कि पाकिस्तान को अमेरिका का पिछलग्गू बनने के बजाय अपने पड़ोसियों के साथ रिश्ते मजबूत करने चाहिए.
पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) की नेता खार ने कहा कि पाकिस्तान को अमेरिका का पिछलग्गू बनने के बजाय भारत और अपने पड़ोसियों के साथ रिश्ते मजबूत करने चाहिए. हिना फरवरी, 2011 से मार्च, 2013 तक पाकिस्तान की विदेश मंत्री रही थीं.
अमेरिका और पाकिस्तान के संबंधों पर आयोजित एक सेमीनार में पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को हमेशा खुद को सामरिक साझीदार के रूप में देखना चाहिए. हमें अमेरिका की जगह भारत, अफगानिस्तान, ईरान और चीन जैसे पड़ोसी देशों के साथ महत्वपूर्ण संबंध विकसित करने चाहिए.
हमें अमेरिका को इतन ज्यादा तवज्जो नहीं देन चाहिए, क्योंकि हमारी अर्थव्यवस्था अमेरिका की मदद पर निर्भर नहीं है. दोनों हाथ में कटोरा लेकर भीख मांगने से पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सम्मान नहीं पा सकता.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *