पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद जवानों की खबर से पुरे देश में आक्रोश और गम का माहौल है. इस हमले में बिहार के दो और उत्तर प्रदेश के 12 सपूत भी शहीद हो गये हैं. अपने सपूतों के शहादत से शोकाकुल और आक्रोशित लोग केंद्र सरकार से पूछ रहे हैं कि इसका बदला कब?
बिहार के दोनों सपूतों में से एक पटना के तारेगना निवासी हेड कांस्टेबल संजय कुमार सिन्हा और दूसरे भागलपुर के कहलगांव निवासी रतन कुमार ठाकुर हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के प्रत्येक शहीद के परिवार को 25-25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने के साथ ही जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नाम शहीद के नाम पर रखे जाने का ऐलान किया है.
भागलपुर के शहीद रतन कुमार ठाकुर का परिवार मूल रूप से कहलगांव के आमंडंडा थाना के रतनपुर गांव का रहने वाला है. घर में गर्भवती पत्नी राजनंदिनी देवी और चार साल का एक बेटा कृष्णा है. संजय कमार सिन्हा के पिता महेंद्र प्रसाद भी CRPF की 176वीं बटालियन में तैनात थे. सात बजे शाम में संजय के शहादत की खबर आते ही पूरे गाँव में गम और आक्रोश ने कोहराम मचा दिया.
संजय एक महीने की छुट्टी बिताने के बाद आठ फरवरी को ही ड्यूटी के लिए रवाना हुए थे और रास्ते में ही आतंकवादी हमले में शहीद हो गए. संजय अगली बार छुट्टी में अपनी बड़ी बेटी रूबी की शादी की बात पक्की करने वाले थे. जबकि उनकी छोटी बेटी स्नातक की पढ़ाई पूरी कर चुकी है और बेटा सोनू मेडिकल की तैयारी करता है. उनके माता-पिता भी साथ ही रहते हैं. अपने सपूतों के शहादत की खबर से पूरा बिहार शोकाकुल और आक्रोशित है, लोग केंद्र सरकार से पूछ रहे हैं कि इसका बदला कब?
देश के लिए अपनी जान न्योछावर करने वालों में सबसे ज्यादा 12 उत्तर प्रदेश के हैं. इनमें चंदौली के शहीद अवधेश कुमार, इलाहाबाद के शहीद महेश कुमार, शामली के शहीद प्रदीप, वाराणसी के शहीद रमेश यादव, आगरा के शहीद कौशल कुमार यादव, उन्नाव के शहीद अजीत कुमार, कानपुर देहात के शहीद श्याम बाबू और कन्नौज के शहीद प्रदीप सिंह शामिल हैं.
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीदों के प्रति परिवार को 25-25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने के साथ ही जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नाम शहीद के नाम पर रखे जाने का ऐलान किया है. पुलवामा में शहीद हुए जवानों का अंतिम संस्कार योगी सरकार पूरे राजकीय सम्मान के साथ करेगी, जिसमें प्रदेश सरकार के एक मंत्री, DM और SP राज्य सरकार के प्रतिनिधि होंगे.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *