पाक आर्मी चीफ कश्मीर पर भारत से चाहते हैं वार्ता

 70 


पाकिस्तान के थलसेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा कि कश्मीर के मूल मुद्दे सहित भारत- पाकिस्तान के बीच जारी सभी विवादों का शांतिपूर्ण समाधान समग्र एवं अर्थपूर्ण संवाद से संभव है.
बाजवा ने काकुल में पाकिस्तानी सैन्य अकादमी में कैडेटों के पासिंग आउट परेड में अपने संबोधन के दौरान यह टिप्पणी करते हुए कहा कि हमारा यह स्पष्ट मानना है कि कश्मीर के मूल मुद्दे सहित भारत- पाकिस्तान के विवादों के शांतिपूर्ण समाधान का रास्ता समग्र एवं अर्थपूर्ण संवाद से ही गुजरता है। जनरल बाजवा ने कहा कि ऐसा संवाद किसी पक्ष पर एहसान नहीं है बल्कि यह समूचे क्षेत्र में शांति के लिए जरूरी है. पाकिस्तान ऐसे संवाद के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन ऐसा संप्रभु समानता, गरिमा एवं सम्मान के आधार पर होगा.


बाजवा ने कैडेटों को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान एक अमनपसंद देश है और सभी देशों खासकर अपने पड़ोसियों के साथ सद्भावनापूर्ण एवं शांतिपूर्ण सहअस्तित्व चाहता है लेकिन शांति की इस चाहत को किसी भी तरह से हमारी कमजोरी की निशानी नहीं समझा जाना चाहिए. हमारे साहसी सशस्त्र बल किसी भी खतरे का करारा जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. साथ ही बाजवा ने जम्मू- कश्मीर के लोगों के आत्मनिर्णय के बुनियादी अधिकार के लिए अपने देश के राजनीतिक एवं नैतिक समर्थन की बात भी दोहराई.
बाजवा ने कहा कि पाकिस्तान को अंदर से कमजोर करने के लिए एक ‘हाइब्रिड’ युद्ध थोपा गया है. हमारे दुश्मन जानते हैं कि वे हमें सीधे तरीके से मात नहीं दे सकते तो उन्होंने हम पर एक क्रूर, बुरा और लंबा हाइब्रिड युद्ध थोप दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद और चरमपंथ के सफाए के लिए बगैर किसी भेदभाव के अपनी भूमिका निभाई है और कोशिशों ने नतीजे दिखाने शुरू कर दिए हैं. हम किसी मजबूरी के कारण इन कोशिशों को जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हैं, बल्कि पाकिस्तान को एक सुरक्षित, समृद्ध एवं प्रगतिशील देश बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *