पाकिस्तान को मदद देना सबसे बड़ी मूर्खता, उसने अमेरिकी नेताओं को 15 सालों तक मूर्ख बनाया : ट्रंप

 69 


अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने पाकिस्‍तान के आतंकवाद के प्रति ढुलमुल रवैये पर एक बार फिर हमला बोलते हुए कहा कि पाकिस्‍तान पिछले 15 सालों से अमेरिकी नेताओं को आतंकवाद के नाम पर मूर्ख बनता आ रहा है.
ट्रंप ने कहा कि अमेरिका पिछले 15 सालों में मूर्खतापूर्ण तरीके से 33 अरब डॉलर से ज्यादा राशि बतौर सहायता पाकिस्तान को दे चुका है. मगर पाकिस्तान ने हमारे नेताओं को मूर्ख समझकर हमें झूठ और छल-कपट के अलावा और कुछ नहीं दिया.
ट्रंप के इस ट्वीट से संकेत मिलते हैं कि पाकिस्तान की आतंकी संगठनों को संरक्षण देने की नीति पर अमेरिका की ओर से इस साल में शिकंजा कसा जा सकता है. इससे पहले भी इस मुद्दे पर ट्रंप प्रशासन की ओर से पाकिस्तान को कई बार फटकार लगाई जा चुकी है.
अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि पाकिस्‍तान की ओर से आतंकवाद से लड़ने के लिए जो राशि दी जा रही है, हमें उसके बदले सिर्फ छल-कपट ही मिला है. लेकिन अमेरिकी सैनिकों ने अफगानिस्‍तान में आतंकियों के नेटवर्क को काफी हद तक खत्‍म कर दिया है. पाकिस्‍तान ने अफगानिस्‍तान को आतंकियों के लिए ‘जन्‍नत’ बना रखा था.
data-ad-slot=”2847313642″

डोनाल्‍ड ट्रंप ने पाकिस्‍तान की नीयत पर सवाल उठाते हुए बीते साल भी कई बार आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी. अमेरिका ने कहा था कि पाकिस्तान को अपनी सरजमीं से संचालित होने वाले आतंकी संगठनों के प्रति अवश्य ही अपना रुख बदलना चाहिए और उनके खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करनी चाहिए.
अमेरिका मानता है कि जमात-उद-दावा और फलह-ए-इंसानियत फाउंडेश आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के दो चेहरे हैं. लश्कर–ए-तैयबा की स्थापना हाफिज ने 1987 में की थी और 2008 में मुंबई हमलों के लिए इस संगठन को ही भारत और अमेरिका दोनों जिम्मेदार बताते हैं. ये अलग बात है कि सईद इन आरोपों से इनकार करता रहा है.
जो दस्तावेज 19 दिसंबर के सामने आए हैं उनमें फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) सईद के दो संगठनों का जिक्र करता है. FATF एक अंतरराष्ट्रीय समूह है जो मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकियों को वित्तीय मदद के खिलाफ कार्रवाई करता है. FATF ने साफ कर दिया है कि या तो पाकिस्तान आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करे या तो निगरानी सूची में शामिल होने के लिए तैयार रहे.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...