हिंदुस्तान में मुट्ठी भर लोग भारत में रहते हुए पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं, ये वही लोग हैं जो पाकिस्तान जाकर कहते हैं कुछ भी करो लेकिन मोदी को हटाओं. जो मुंबई हमले के बाद आतंकवाद को जवाब नहीं दे पाए. ऐसे लोग न देश के जवान के हैं और न देश के किसान के हैं. चुनाव के दौरान कांग्रेस पर चढ़ जाता है कर्जमाफी का बुखार, लेकिन क्या वादे के मुताबिक कर्जमाफी हुई?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राजस्थान में लोकसभा चुनाव का प्रचार शुरू करते हुए एक नया नया नारा दिया- ‘मोदी है तो मुमकिन है’. कश्मीर में आतंकवाद और इमरान खान का भी जिक्र करते हुए कहा कि हमारी लड़ाई कश्मीरियों के खिलाफ नहीं, कश्मीर के लिए और मानवता के लिए है. आतंकवाद से मुकाबला करना है तो कोई गलती न करें. कश्मीरी भी आतंकवाद से लड़ रहे हैं.
प्रधानमंत्री ने देश के अन्य हिस्सों में कश्मीरियों पर हमले की खबर पर कहा कि कश्मीरी बच्चों के साथ हिंदुस्तान के किसी कोने में क्या हुआ, क्या नहीं हुआ, मुद्दा यह नहीं है. मुद्दा यह है कि इस देश में ऐसा नहीं होना चाहिए. इन दिनों सोशल मीडिया पर वीर रस की बाढ़ आई है. मैं देश के आक्रोश से भरी हुई जनता से आग्रह करता हूँ कि कश्मीर का बच्चा-बच्चा आतंकवाद से पीड़ित है. वह आतंकवाद को खत्म करने के लिए हमारे साथ आने के लिए तैयार है, हमें उसको साथ रखना है. अमरनाथ की यात्रा में हजारों श्रद्धालुओं का जो ख्याल रखता है वो कश्मीर का ही बच्चा है. अमरनाथ में लोगों को गोलियां लगी तब कश्मीर के नौजवान उनके लिए खड़े हुए, उन्हें अपना खून दिया. जिस तरह से देश के अन्य हिस्सों से लोग शहीद होते हैं ऐसे ही कश्मीर के लोग भी आतंकवाद से लड़ते हुए शहीद होते हैं. चंद लोग अगर ऐसा करते हैं तो वो ‘भारत तेरे टुकड़े’ का नारा लगाने वालों को मजबूत करते हैं.
PM ने कहा कि पाकिस्तान में नई सरकार बनी तो मैने नए प्रधानमंत्री को बधाई देते हुए कहा था कि आप राजनीति में आए हो, आओ भारत-पाकिस्तान मिल कर गरीबी, अशिक्षा के खिलाफ लड़ें. उन्होंने मुझसे कहा था कि मैं पठान का बच्चा हूँ, सच्चा बोलता हूँ, सच्चा करता हूँ. आज उनके शब्दों को कसौटी पर कसने की जरूरत है.
मोदी ने कहा कि आपका यह प्रधानसेवक इन आतंकियों का दाना पानी बंद करने में जुटा है. दुनिया में तब तक शांति कायम नहीं होगी जब तक आतंक की फैक्ट्री चलती रहेगी. अगर आतंक की फैक्ट्री पर ताला लगाने का जिम्मा मेरे ही हक में है तो यही सही. ये संकल्प सिर्फ मेरा नहीं 130 करोड़ हिंदुस्तानियों का है. यह राजनीति से ऊपर राष्ट्रनीति का सवाल है. पुलवामा के वीर जवानों को पुनः नमन करता हूँ, इन वीर सपूतों की मताओं को फिर से अपनी संवेदना व्यक्त करता हूँ. आप सभी की वजह से ही भारत आज सीना तानकर विश्व पटल पर खड़ा है. आपने राष्ट्र रक्षा के लिए बहुत बड़ा त्याग किया है. संपूर्ण देश ही नहीं आज पूरा विश्व आपके साथ है. मुझे वीर जवानों पर गर्व है जिन्होंने हमले के बड़े गुनहगार को 100 घंटे के बाद ही वहां पहुंचा दिया जहां उनकी जगह थी. आप भरोसा रखिए, इस बार सबका हिसाब होगा और हिसाब भी पूरा होगा.
PM ने कहा कि हमने बजट में 500 करोड़ रुपये की व्यवस्था कर गाय की रक्षा के लिए कामधेनू आयोग बनाने का फैसला लिया है. ऐसे बड़ा काम तभी संभव हो सकता है जब आप सेवा भाव से काम करते हैं. पिछले साढ़े चार साल में ऐसे अनेक काम हुए जिनके बारे में पहले सिर्फ चर्चा होती थी. अब जब वो जमीन पर आये तो एक विश्वास जगा कि मोदी है तो मुमकिन है. फौजी भाईयों से 40 साल तक ‘वन रैंक, वन पेंशन’ पर सिर्फ झूठे वादे किए गए. हमारी सरकार ने वन रैंक, वन पेंशन लागू किया और 20 लाख पूर्व फौजियों को लगभग ग्यारह हजार करोड़ रुपये के एरियर भी दे दिए.
मोदी ने कहा कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नाम से एक ऐतिहासिक योजना लेकर आई है. ये वैसी योजना नहीं जो कांग्रेस हर दस वर्ष पर लेकर आती है. कांग्रेस को चुनाव आते ही कर्जमाफी का बुखार आता है. उनकी योजना का लाभ मात्र 20 फीसदी किसानों को होता था. लेकिन हमारी योजना का लाभ 90 फीसदी किसानों को मिलेगा और हर साल मिलेगा. हमने जो योजना बनाई है उससे दस साल में 7.5 लाख करोड़ रुपया सीधे किसानों के खाते में जायेगा.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *