पत्थरबाजों ने कश्मीर में स्कूली बस पर किया हमला, दो छात्र घायल, सभी ने की आलोचना

 64 



जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले के जावोरा गांव में कुछ अराजक तत्वों द्वारा स्कूल बस पर पथराव किया, जिसमें दो बच्चे घायल हो गए. राज्य की मुख्यमंत्री समेत अन्य दलों ने घटना की कड़ी निंदा की है.
कश्मीर में आतंक का साथ दे रहे पत्थरबाजों ने अब मासूमों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है. पत्थरबाजों के हरकतों की चौतरफा आलोचना हो रही है. घटना के वक्त करीब 50 बच्चे बस से स्कूल जा रहे थे. जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों और पत्थरबाजों के बीच अक्सर झड़प की खबरें आती रहती हैं. मगर पहली बार पत्थरबाजों ने अपनी करतूतों का शिकार स्कूली बच्चों को बनाया है.
मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा कि इस विवेकहीन और कायराना कृत्य के षडयंत्रकारियों को जल्द ही न्याय की जद में लाया जाएगा. मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने घटना की निंदा करते हुए ट्वीट किया- ‘शोपियां में स्कूली बस पर हमले की घटना के बारे में जानकर हैरान हो रही है, गुस्सा भी आ रहा है. इस तरह का कुकृत्य करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होगी.’
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी पत्थरबाजों के इस हरकत की कड़ी निंदा करते हुए ट्वीट किया- ‘स्कूली बच्चों या पर्यटकों की बसों पर पथराव से कैसे इन पत्थरबाजों के एजेंडे को बढ़ाने में मदद मिलती है? इन हमलों की एकजुट होकर निंदा करनी चाहिए और मेरा यह ट्वीट इसीका हिस्सा है.’


पत्थरबाजों की इस हरकत से बेहद नाराज उमर अब्दुल्ला का कहना है कि पत्थरबाजों को कार्रवाई से राहत दी गई थी कि वो सुधर जाएंगे, लेकिन इनमें से ही कुछ गुंडे लोग अब इसका गलत फायदा उठा रहे हैं. हाल के दिनों में पत्थरबाजी के जो भी मामले आए हैं वो बेहद निंदनीय है.
राज्य के पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि यह पागलपन है. पत्थरबाजों द्वारा अब स्कूली बच्चों को निशाना बनाना बहुत ही शर्मनाक है. उन्होंने कहा कि इसमें शामिल तमाम अपराधियों को कानून का सामना करना ही होगा.
ज्ञात है कि जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी की घटना में शामिल साढ़े चार हजार से ज्यादा युवाओं के खिलाफ मामले दर्ज थे. इसी साल जनवरी में महबूबा सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय की सलाह पर पहली बार पत्थरबाजी की घटना में शामिल रहे 3685 युवाओं पर दर्ज मामलों को खत्म करने का फैसला लेकर युवाओं को एक और मौका दिया गया था.
पुलिस के अनुसार एक निजी स्कूल की बस पर पत्थरबाजों ने सुबह करीब सवा नौ बजे पथराव किया. बस में नर्सरी से लेकर 10वीं कक्षा तक के बच्चे सवार थे. कुछ अराजक तत्वों ने बस को घेर कर उस पर पथराव करना शुरू कर दिया. जिसमें दो बच्चे घायल हुए. बस ड्राइवर ने बताया कि जैसे ही उसे आभास हुआ कि कुछ गड़बड़ है, उसने बस की स्पीड बढ़ा दी, लेकिन फिर भी पत्थरबाजों ने बस पर हमला कर दिया और बच्चों को चोट आ ही गई.
इस घटना की सभी तरफ से कड़ी निंदा की जा रही है. घायल बच्चों के अभिभावकों ने इसे मानवता के खिलाफ हरकत बताया है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *