नीरव मोदी के मामा भगोड़े मेहुल चौकसी के वकील को कांग्रेस का टिकट

 72 


PNB घोटाले में आरोपित हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी के एक वकील एचएस चंद्रमौली को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए टिकट देने पर भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधा है.
भाजपा आईटी सेल के प्रभारी अमित मालवीय ने ट्विटर पर “कांग्रेस विद नीरव” हैशटैक का उपयोग करके पूछा कि अधिवक्ता एचएस चंद्रमौली को मादीकेरी से क्यों टिकट दिया गया? जबकि मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के कानूनी सलाहकार एवं पार्टी प्रवक्ता ब्रजेश कलप्पा को टिकट नहीं दिया गया, जो उसी इलाके के हैं.
मालवीय ने ट्वीट किया कि- ‘‘नीरव मोदी के मामा मेहुल चौकसी के वकील एचएस चंद्रमौली में क्या खास है कि कांग्रेस ने उनको मादीकेरी से टिकट दे दिया जबकि CM के कानूनी सलाहकार एवं पार्टी प्रवक्ता ब्रजेश कलप्पा को उससे वंचित कर दिया गया? राहुल के मित्र? # कांग्रेसविदनीरव’’
एचएस चंद्रमौली 2016 में मेहुल चौकसी के उस केस में वकील थे, जिसमें इस हीरा कारोबारी ने शहर के एक कारोबारी वी हरिप्रसाद अैर राज्य सरकार के खिलाफ उच्च न्यायालय में मामला दायर किया था. विवाद बढ़ने पर खबर आ रही है कि कांग्रेस ने चंद्रमौली का टिकट होल्ड पर रख दिया है. हालांकि पार्टी की ओर से समाचार लिखे जाने तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.


उधर कलप्पा ने कल एक ट्वीट किया था कि- ‘‘मैंने कभी मेहुल चौकसी की पैरवी नहीं की है.’’ कलप्पा 2009 से ही कांग्रेस में टिकट के लिए हाथ पांव मार रहे हैं, लेकिन उन्हें कोई कामयाबी नहीं मिली. उन्होंने फेसबुक पर भावुक हो कर एक पोस्ट डाली, जिसमें उन्होंने कहा कि मुझे 2009 और 2014 में लोकसभा टिकट नहीं दिया गया, 2014, 2016, 2018 में राज्यसभा का टिकट नहीं दिया गया और अब विधानसभा का भी नहीं.’’ ‘‘मैं उस शख्स के हाथों दौड़ से हटाए जाने का कलंक झेल लूंगा जो 2016 में पार्टी में शामिल हुए, उसी साल विधान परिषद का टिकट पाया और हार गया और उसी शख्स के पास अब मादीकेरी से विधानसभा टिकट है.’’
कलप्पा ने तंज कसते हुए कहा कि वह अगली बार ग्राम पंचायत चुनाव में अपनी चुनावी किस्मत आजमाएंगे. मेरी पार्टी में कोई साफ तौर पर मुझे अपनी हैसियत की बराबरी वाले किसी चुनाव क्षेत्र से नामांकन भरने को कह रहा है, लेकिन जिन फेसबुक मित्रों को मैं प्यार करता हूं और सम्मान करता हूं, वो मेरे लिए आंसू नहीं बहाएं. “इतनी सारी निराशाओं के बाद मुझे राजेश खन्ना के अमर शब्दों का इस्तेमाल करने का अधिकार है, ‘पुष्पा, आई हेट टीयर्स’.”

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *