नीतीश कुमार के हाथ छठी बार बिहार की कमान

 61 


नीतीश कुमार ने छठी बार सीएम पद की शपथ ली, उनके साथ भाजपा के वरिष्ट नेता सुशील कुमार मोदी ने तीसरी बार डिप्टी सीएम पद की शपथ ली है.
बिहार में भ्रष्टाचार के एक मामले में फंसे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव को लेकर हुए विवाद के बीच 26 जुलाई को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और महागठबंधन की 20 महीने पुरानी सरकार गिर गई.
तेज़ी से बदलते घटनाक्रम में कल देर रात में ही नीतीश कुमार ने NDA विधायकों के साथ राज्यपाल से मुलाकात की थी. राज्यपाल से मुलाकात के बाद सुशील कुमार मोदी ने संवाददाताओं को बताया कि गठबंधन को समर्थन करने वाले 132 विधायकों की एक सूची राज्यपाल को सौंपी गई है. राज्यपाल ने नीतीश कुमार को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है.
इन विधायकों में जदयू के 71, भाजपा के 53, रालोसपा के दो, लोजपा के दो, हम के एक और तीन निर्दलीय शामिल हैं. उन्होंने कहा कि शपथ ग्रहण समारोह सुबह 10 बजे होगा. यह मुख्यमंत्री के तौर पर कुमार का छठा कार्यकाल होगा.


कई महीनों से महागठबंधन में चल रहे विवाद के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 26 जुलाई को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही बिहार की 20 महीने पुरानी महागठबंधन की सरकार गिर गई. महागठबंधन में नीतीश की पार्टी जनता दल (युनाइटेड) के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस शामिल थीं.
बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि जितना संभव हो सका, गठबंधन धर्म का पालन करने की कोशिश की, लेकिन बीते घटनाक्रम में जो चीजें सामने आईं उसमें काम करना मुश्किल हो गया था. जब मुझे ऐसा लग गया कि वे कुछ कहने की स्थिति में नहीं हैं, तो ऐसी स्थिति में मैं जवाब नहीं दे सकता. मैं सरकार का नेतृत्व कर रहा हूं. लेकिन सरकार के अंदर के व्यक्ति के बारे में कुछ बातें कही जाती हैं और मैं उस पर कहने की स्थिति में नहीं हूं तो ऐसी स्थिति में इस सरकार को चलाने का, मेरे हिसाब से कोई आधार नहीं है.”
CBI ने लालू प्रसाद और उनके बेटे तेजस्वी सहित उनके परिवार के कई सदस्यों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कर सात जुलाई को पटना सहित देशभर में 12 स्थानों पर छापेमारी की थी. इस घटनाक्रम के बाद तेजस्वी यादव के इस्तीफे की मांग उठी, जिसे लेकर महागठबंधन में दरारें पैदा हो गई. तेजस्वी ने इस्तीफा देने से मना कर दिया था, जिससे यह दरार चौड़ी होती गई और अंतत: नीतीश ने इस्तीफा दे दिया.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *