नवाज शरीफ ने माना, 26/11 मुंबई हमले में था पाक आतंकियों का हाथ, अभी भी कई आतंकी संगठन सक्रिय

 62 


पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने एक इंटरव्यू में माना है कि भारत के मुंबई में हुए 26/11 हमलों के पीछे पाकिस्तान के आंतकियों का हाथ था.
पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते PM पद के लिए अयोग्य ठहराए गए नवाज़ शरीफ ने ये भी माना कि पाक में आतंकी संगठन सक्रिय हैं. उन्होंने मुल्तान में रैली से पहले दिए अपने इंटरव्यू में स्वयं सवाल उठाया कि क्या हम सीमा पार करके आतंकियों को जाने दे सकते हैं और मुंबई में 150 लोगों को मरने दे सकते हैं? उन्होंने इस इंटरव्यू में एक तरह से स्पष्ट स्वीकार किया कि मुंबई हमलों के पीछे पाकिस्तान का हाथ था. जबकि
पाकिस्तान हमेशा से मुंबई हमलों के पीछे अपना हाथ होने से इंकार करता रहा है और भारत की तरफ से डोजियर और सबूत देने के बावजूद इससे मुकरता रहा है.
पनामा पेपर लीक मामले में नवाज शरीफ का नाम आने के बाद कोर्ट ने पिछले साल 28 जुलाई को उन्हें दोषी पाया था. पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य घोषित कर दिया, जिसके बाद नवाज को इस्तीफा देना पड़ा था.
पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने 13 अप्रैल 18 शुक्रवार को नवाज शरीफ को जीवनभर चुनाव लड़ने के अयोग्य ठहरा दिया था, यानी शरीफ अब आजीवन कोई भी सार्वजनिक पद नहीं संभाल पाएंगे. पिछले साल जुलाई में भ्रष्टाचार के आरोप में प्रधानमंत्री के तौर पर शरीफ को अयोग्य घोषित किया गया था, लेकिन उस फैसले में अयोग्यता की अवधि का कोई उल्लेख नहीं था. परन्तु अब सभी पांचों न्यायाधीशों ने एकमत से फैसला सुनाते हुए कहा कि जो लोग देश के संविधान के प्रति ईमानदार और सच्चे नहीं हैं, उन्हें जीवन भर के लिए संसद से प्रतिबंधित रखना चाहिए.

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *