नए साल पर फिर इतिहास रचेगा ISRO, 10 जनवरी को एकसाथ लांच करेगा 31 सैटेलाइट

 66 

भारत ने 2017 में अंतरिक्ष में सफलता के झंडे गाड़े। अब नए साल में ISRO अपनी इसी सफलता को बरकरार रखते हुए 10 जनवरी को एकसाथ 31 सैटेलाइट्स अंतरिक्ष में छोड़कर दोबारा इतिहास रचेगा। वैसे लांचिंग की डेट एक-दो हफ्ते आगे भी बढ़ सकती है।
इन उपग्रहों को पोलर सैटेलाइट लांच व्हीकल (PSLV) से लांच किया जाएगा। इन 31 उपग्रहों में भारत का ‘अर्थ आब्जर्वेशन सैटेलाइट कार्टोसैट-2’ भी शामिल है, यह पृथ्वी की निगरानी करने वाला अंतरिक्ष यान है।
ये पहला ऐसा मौका है जब ISRO (पीएसएलवी) मिशन पर काम कर रहा है। योजना को अंतिम रूप देने के लिए मिशन रेडीनेस रिव्यू कमेटी और लांच आथोराइजेशन बोर्ड जल्द बैठक कर सकते हैं। इसरो ने घोषणा की है कि वह 10 जनवरी 2018 को आंध्र प्रदेश के श्री हरिकोटा से अंतरिक्ष यान पीएसएलवी-सी40 समेत अन्य 30 उपग्रहों को अंतरिक्ष में लांच करेगा, जिसमें दूसरे देशों के 28 छोटे उपग्रह भी शामिल हैं।

इसरो ने इससे पहले 15 फरवरी 2017 को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन लॉन्चिंग सेंटर से एक साथ 104 उपग्रहों को सफलतापूर्वक लांच करने के साथ अपने 23 उपग्रहों को सफलतापूर्वक लांच करने के अपने रिकॉर्ड को तोड़ा था। इसरो द्वारा लांच किये गए उपग्रहों में अमेरिका की प्राइवेट फर्म्स के 96 सैटेलाइट्स शामिल थे। प्रक्षेपित किये गए उपग्रहों का कुल वजन 1378 किलोग्राम था।
भारत से पहले आज तक सबसे ज्यादा उपग्रहों को एक साथ लांच करने का यह रिकॉर्ड रूस के नाम था, उसने 37 उपग्रहों को एक साथ प्रक्षेपित कर यह मुकाम हासिल किया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...