प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगले दस साल में दुनिया के टॉप-टेन शहरों में सभी हिंदुस्तान के होंगे. वे बुधवार को दांडी में नमक सत्याग्रह स्मारक और संग्रहालय देश को समर्पित करने और 354 करोड़ रुपए की लागत से सुरत में बनने वाले एयरपोर्ट टर्मिनल भवन के विस्तार और एक अस्पताल की आधारशिला रखने के क्रम में बोल रहे थे. 15 एकड़ में फैले दांडी नमक सत्याग्रह स्मारक को 110 करोड़ की लागत से बनाया गया है.
‘नया भारत युवा सम्मेलन’ को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रिपोर्ट का हवाला देकर दावा किया कि अगले 10 साल में दुनिया के टॉप-10 शहरों में सभी हिंदुस्तान के होंगे. इनमें सबसे उपर सूरत है और रहेगा. सूरत सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया भर की आर्थिक गतिविधियों का केंद्र बनेगा. जहाँ युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे. टॉप-10 बनने वाले शहर वर्तमान के साथ-साथ भविष्य के लिए भी तैयार किए जा रहे हैं, वहां की शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ- साथ लोगों के मानसिकता भी बदलनी है.
मोदी ने कहा कि ‘सूरत के इस एयरपोर्ट की क्षमता भविष्य में 4 लाख 26 हजार से ज्यादा यात्रियों की हो जाएगी. यहां से शारजहा के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट जाएगी. सरकार हवाई कनेक्टिविटी से पूरे देश को जोड़ने का काम कर रही है. सत्रह एयरपोर्ट को अपग्रेड किया जा चुका है. अगले चार साल में 50 ऐसे एयरपोर्ट को विकसित किया जाएगा जो बंद हैं या ठीक से नहीं चल रहे. आज सूरत एयरपोर्ट पर 70-72 हवाई जहाज चल रहे हैं. क्या कभी हम भूल सकते हैं कि एयरपोर्ट के लिए किस तरह के आंदोलन किए गए थे? मुख्यमंत्री होने के नाते मैं भी खत लिख-लिखकर थक गया था, लेकिन उनके मन राजनीतिक द्वेष था. हम ‘सबका साथ सबका विकास’ मंत्र के साथ आगे बढ़ रहे हैं. कुछ लोग इसे रोकना चाहते हैं, ऐसे नकारात्मक लोगों की सोच से लड़कर हम आगे बढ़ेंगे.
PM ने कहा कि 2014 में देश में 80 पासपोर्ट केंद्र थे, पिछले 4 साल में हमने इस आंकड़े को 400 के पार करा दिया. अब मोबाईल एप के जरिए भी पासपोर्ट अप्लाई करना आसान हो गया है, इससे दूरी और देरी दोनों में कमी आई. सरकार लोगों के जीवन को सरल और सुगम बनाने में जुटी हुई है, सीवर, पानी, फ्लाईओवर, शिक्षा और मकान की योजनाओं पर फोकस किया जा रहा है.


PM ने कहा कि 4.5 साल में शहर में रहने वाले गरीबों के लिए 13 लाख घर बनाए गए हैं और 37 लाख मकानों को बनाने का काम जारी है. इनके अलावे 70 लाख घरों के लिए मंजूरी दी जा चुकी है. ग्रामीण इलाकों में एक करोड़ 30 लाख घर बनाए जा चुके हैं. जबकि पहले की सरकार ने मात्र 25 लाख घर बनवाए थे. मैं जितना काम कर रहा हूँ, उतना उन्हें करना होता तो उन्हें 25 साल और लग जाते.
उन्होंने कहा कि मध्यम वर्ग अपना घर बना पाए इसके लिए हमने ब्याज में राहत दी. बीस लाख के लोन से अगर प्रधानमंत्री योजना के तहत मकान बनता है तो ब्याज कम लगता है. इससे कर्ज चुकाते समय 6 लाख रुपए की बचत होती है. कुछ लोग सवाल पूछते हैं कि नोटबंदी से क्या फायदा हुआ? यह सवाल मध्यम वर्ग और युवाओं से पूछना चाहिए. इससे घर बनाने में पैसे कम लगे, उन्हें फायदा हुआ. आम आदमी रियल स्टेट वालों की लूट से बच गए.
मोदी ने कहा कि सरकार में इच्छाशक्ति हो तो परिवर्तन कैसे आता है इसका उदाहरण है LED बल्ब, 350 का बल्ब अब 50 रुपए में मिलता है. 4.5 साल में सरकार ने 25 करोड़ बल्ब बांटे, 16500 करोड़ रुपए की बचत हुई. मुद्रा योजना ने गरीब वर्ग के युवाओं के सपनों को उड़ान दी. 15 करोड़ से ज्यादा लोगों को 7 लाख करोड़ रुपए के लोन बिना बैंक गारंटी के बांटे जा चुके हैं. इनमें से 4.25 करोड़ से ज्यादा लोगों ने पहली बार लोन लिया है. इनके पीछे सबसे बड़ी वजह पूर्ण बहुमत की सरकार है. 30 साल तक हमारे देश में अस्थिरता का समय रहा, जोड़-तोड़ कर सरकारें चलीं. देश की जनता ने 2014 में समझदारी से वोट डाला और देश त्रिशंकु सरकार की बीमारी से बाहर निकाला. पूर्ण बहुमत की सरकार जबावदेह होती है, इससे सरकार से सवाल भी पूछे जा सकते हैं. पूर्ण बहुमत की सरकार ने दुनिया में देश का नाम रोशन किया.
PM ने कहा ‘आज बापू की पुण्यतिथि है, कर्मयोगियों के इस शहर सूरत से मैं बापू को श्रद्दा सुमन अर्पित करता हूँ, गांधी जी के दर्शन को सूरत ने जमीन पर उतारा है. ये शहर मेक इन इंडिया को सशक्त कर रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई यात्रा करें.’ नवसारी जिले के डांडी में राष्‍ट्रीय नमक सत्‍याग्रह स्‍मारक में ऐतिहासिक 1930 की नमक यात्रा की विभिन्‍न घटनाओं और कहानियों को चित्रित करने वाले 24 भित्तिचित्र सहित महात्‍मा गांधी और ऐतिहासिक डांडी नमक यात्रा के दौरान उनके साथ शामिल 80 सत्‍याग्रहियों की मूर्तियां भी हैं.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *