तेजस्वी 26 वर्ष की उम्र में 26 संपत्तियों के मालिक हैं : सुशील मोदी

 85 


भाजपा नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एकबार फिर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके पुत्र उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि 26 वर्ष की उम्र में तेजस्वी 26 संपत्तियों के मालिक हैं।
सुमो ने कहा कि तेजस्वी 13 संपत्तियों के मालिक उसी समय बन गए थे, जब वे ‘बिना मूंछ’ वाले (नाबालिग) थे। ये 13 संपत्तियां उनके नाम से निबंधित हैं, वहीं मुखौटा कंपनी के जरिए 13 संपत्तियों के वह मालिक बने हैं। सुमो ने एकबार फिर तेजस्वी के इस्तीफे की मांग करते हुए राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को उनके और परिवार पर लगाए गए आरोपों का बिंदुवार जवाब देने की भी चुनौती दी।
सुमो ने कहा कि तेजस्वी दो संपत्तियों के मालिक तो तभी बन गए थे, जब उनकी उम्र मात्र तीन वर्ष थी। राजद नेता रघुनाथ झा और कांति सिंह ने अपनी करोड़ों रुपये की संपत्ति उस समय दान दी थी जब तेजस्वी की उम्र 16 वर्ष थी। तेजस्वी को नाबालिग रहते करोड़ों रुपये मूल्य की संपत्ति दान में लेने में तो कोई हिचक नहीं हुई थी।


सुमो ने कहा कि डीलाइट मार्केटिंग, ए़ बी़ एक्सपोर्ट्स और ए़ क़े इंफोसिस्टम के माध्यम से जब तेजस्वी पटना और दिल्ली की 13 संपत्तियों के मालिक बने, उस समय वह वयस्क थे। उन्होंने कहा कि तेजस्वी ने उपमुख्यमंत्री रहते हुए 2016 में पटना की तीन एकड़ जमीन पर बिहार के सबसे बड़े मॉल के निर्माण के लिए सुरसंड के विधायक सैय्यद अबु दोजाना की कंपनी से अनुबंध किया है।
उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने आरोप लगाया था कि CBI ने उस समय के मामलों में उन्हें आरोपी बनाया है, जब वह नाबालिग थे, क्या कोई नाबालिग भ्रष्टाचार कर सकता है? भ्रष्टाचार के मामले में फंसने के बाद तेजस्वी के इस्तीफे की मांग उठने लगी, उधर राजद ने इस्तीफे से साफ इंकार कर दिया है।
सुमो ने कहा कि तेजस्वी एवं 7 अन्य पर CBI ने Criminal Conspiracy, Cheating & Criminal misconduct का FIR IPC की धारा r/w 420 तथा Prevention of Corruption Act 1988 की धारा 13(2) r/w 13(1)(d) के तहत दर्ज किया है।
सुमो ने कहा कि FIR में कहा गया है कि 2010 से 2014 के बीच प्रेमचन्द्र गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता ने Delight Marketing Co. को राबड़ी देवी एवं तेजस्वी यादव को स्थानान्तरित किया, तेजस्वी कंपनी के मालिक बने तब वो Adult थे, उन्हें दाढ़ी-मूंछ थीं। 2014 में जब तेजस्वी 24 वर्ष के थे तब Delight Marketing के शेयर पूरी तरह से तेजस्वी को transfer किए गए। यही नहीं उस समय उस जमीन का बाजार दर 94 करोड़ तथा circle rate 32.5 करोड़ था, जिसे मात्र 65 लाख में कब्जे में ले लिया गया।

सुमो ने कहा कि तेजस्वी ने 3 एकड़ जमीन पर 7 लाख 66 हजार Sq. ft. के 12 मंजिला बिहार के सबसे बड़े माॅल के निर्माण का agreement 5 मई, 2016 को सुरसंड विधायक दोजाना की कम्पनी के साथ किया, उस समय तेजस्वी दाढ़ी-मूंछ वाले ही नहीं, बल्कि राज्य सरकार के उपमुख्यमंत्री भी थे।
सुमो ने कहा कि Delight Marketing, AB Exports, AK Infosystem के माध्यम से जब तेजस्वी दिल्ली एवं पटना की मकान सहित 13 सम्पत्ति के मालिक बने, उस समय तेजस्वी दुधमुंहा बच्चा नहीं, 23 वर्ष की उम्र के पूर्ण बालिग थे।
सुमो ने कहा कि उपरोक्त 26 में से 13 सम्पत्ति को आयकर विभाग ने बेनामी घोषित कर औपबन्धिक रूप से जब्त कर लिया है। Gift लेते समय या जमीन लिखवाते समय कभी नहीं कहा कि मुझे दाढ़ी/मूंछ नहीं है, इसलिए जमीन नहीं लूंगा। बाद में दाढ़ी/मूंछ होने पर 13 बेनामी सम्पत्ति के मालिक बन गए और जब फंस गए तो कहते हैं कि मुझे तो उस समय दाढ़ी/मूंछ भी नहीं थी। हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *