राजद प्रमुख लालूप्रसाद के बड़े बेटे एवं बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने सोमवार को लालू- राबड़ी मोर्चा नाम से एक नयी पार्टी का ऐलान कर दिया. इसी के साथ मोर्चा और राजद को एक ही पार्टी बताते हुए कहा कि मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूँ कि तेजस्वी ही मेरा अर्जुन है और उसे मुख्यमंत्री बनना मेरा लक्ष्य है.
तेज प्रताप ने कहा कि तेजस्वी के करीबी लोग उनको बरगला रहे हैं और उन्हें उल्टा-सीधा पढ़ाकर परिवार में फूट डालने की कोशिश कर रहे हैं. वे लोग चाहते हैं कि घरवालों को आपस में लड़ाकर राज किया जाए, पार्टी में गलत काम करने वालों को निकाल बाहर करूंगा.
उन्होंने कहा कि सारण से किसी बाहरी व्यक्ति को टिकट क्यों दिया गया? मेरे पिता लालू प्रसाद कई बार यहाँ से चुनाव जीते हैं, यह हमारी पारंपरिक सीट है. तेजस्वी पूरी तरह चाटुकारों से घिर गये है. मैं अपनी मां राबड़ी देवी से आग्रह करूंगा कि वे सारण संसदीय सीट से चुनाव लड़ें. मैं एक बार स्टैंड ले लेता हूँ तो पलटता नहीं हूँ. अगर मेरी बात नहीं मानी गयी तो सारण सीट से मैं निर्दलीय चुनाव लडूँगा और जीतूंगा. तेज प्रताप अपने ससुर चंद्रिका राय को सारण सीट दिए जाने से नाराज हैं.
तेजप्रताप ने कहा कि महागठबंधन में कोई तीन सीट मांग रहा है तो कोई पांच, मैंने जहानाबाद और शिवहर में दो कार्यकर्ताओं के लिए सीट मांगकर कौन सी गलती कर दी? पार्टी में कार्यकर्ताओं की अनदेखी हो रही है, जो कार्यकर्ता पार्टी के लिए जी जान से लगा रहता है, वैसे लोगों को टिकट नहीं दिया गया. तेजप्रताप ने कहा कि जहानाबाद से मैं चंद्र प्रकाश के लिए टिकट मांग रहा था, लेकिन सुरेंद्र यादव को चुनावी मैदान में उतारा गया. शिवहर से मैंने अंगेश सिंह के लिए टिकट मांगा लेकिन उनके नाम का भी ऐलान अभी तक नहीं हुआ.
बिहार के सबसे बड़े सियासी परिवार में जारी घरेलू विवाद आज खुलकर सामने आ गया. पूरी तरह बगावत का रुख अख्तियार कर चुके तेज प्रताप ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान राजद के कई नेताओं पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी में निष्ठावान नौजवान कार्यकर्ताओं की कोई पूछ नहीं है. मोर्चा नौजवानों को सक्रिय राजनीति में बढ़ाने का मंच बनेगा.
प्रेस वार्ता में उनके उम्मीदवार के रूप में जहानाबाद के चन्द्र प्रकाश, शिवहर के अंगेश कुमार, बेतिया से लड़ने वाले राजन तिवारी और हाजीपुर के बालिन्द्र दास भी थे. तेजप्रताप ने कहा कि वह खुद इन चारों उम्मीदवारों का प्रचार करेंगे. इसके साथ ही जहां से भी निष्ठावान कार्याकर्ताओं को टिकट मिला है, वहां उनका प्रचार करूँगा अन्यथा राजद को मजबूत करने में शुरू से लगे कार्यकर्ताओं को अपने उम्मीदवार के रूप में उतारूंगा.
एक सवाल के जवाब में तेजप्रताप ने कहा कि हमारा मोर्चा राजद से अलग नहीं है. मोर्चा के बैनर में लालू- राबड़ी के अलावा तेजस्वी यादव की भी तस्वीर है. तेजस्वी के बारे में कहा कि वो हमारा अर्जुन है, परिवार में कोई गड़बड़ी नहीं है. हाँ कुछ लोग वहां बैठकर भाइयों को लड़ाने में लगे हैं. ये लोग हमारे यहां आते हैं और वहां भी जाते हैं, इधर की बात उधर करते हैं.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *