डेरा सच्चा सौदा के सिरसा मुख्यालय में 600 मानव कंकाल

 82 


डेरा सच्चा सौदा के सिरसा मुख्यालय की जमीन और खेतों में करीब 600 लोगों की हड्डियां और कंकाल मौजूद हैं. जांच में यह बात सामने आयी है. डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपश्यना इंसा और वाइस प्रेसिडेंट डॉ. पीआर नैन से हरियाणा पुलिस की SIT लगातार पूछताछ कर रही है.
पीआर नैन ने पुलिस को पूछताछ में दलील दी कि डेरा अनुयायियों का ऐसा विश्वास है कि मौत के बाद यदि उनकी अस्थियां डेरे की जमीन में दबा दी जाएंगी, तो उन्हें मोक्ष मिलेगा. इसी वजह से डेरे की जमीन में करीब 600 लोगों की अस्थियां और कंकाल हैं. पुलिस इस एंगल पर जांच कर रही है कि लोगों को मारकर खेतों में उनकी लाशें दबा दी गई हैं.


डेरे के कुछ पूर्व सेवादारों ने आरोप लगाया था कि डेरा या राम रहीम के खिलाफ बोलने वाले लोगों की हत्या करके उनकी लाश खेतों में दफना दी जाती थीं. उसके उपर पेड़ लगा दिए जाते थे, ताकि किसी को इसके बारे में पता न चल सके. उनका कहना था कि राज फाश होने के डर से डेरे में इन जगहों पर खुदाई करने या पेड़ काटने तक की मनाही थी.
इससे पहले SIT ने विपश्यना इंसा से सोमवार को करीब सवा तीन घंटे तक गहन पूछताछ की थी. डीएसपी कुलदीप बैनीवाल ने उससे लगभग 200 सवाल किए, लेकिन वह उसके जवाब से संतुष्ट नहीं हुए हैं. इसलिए उससे दोबारा पूछताछ की तैयारी की जा रही है. डेरा के वाइस प्रेसिडेंट डॉ. पीआर नैन और विपश्यना के जवाब में विरोधाभास देखने को भी मिला है.
माना जाता है कि यदि इन दोनों ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया, तो इनको गिरफ्तार भी किया जा सकता है. दोनों ने पंचकूला में हुई हिंसा को लेकर अलग-अलग बातें कही हैं. पीआर नैन पर हिंसा कराने के लिए 5 करोड़ की फंडिंग का भी आरोप है. इन पैसों से पंचकूला डेरा प्रभारी चामकुमार सिंह ने गुंडों को हिंसा के लिए तैयार किया था. चामकुमार हिरासत में है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *