डिजिटल बैंकिंग के रफ्तार पकड़ने के कारण PNB बंद कर सकता है अपनी 300 शाखाएं

 78 


डिजिटल बैंकिंग के रफ्तार पकड़ने और बीसी नेटवर्क में विस्तार कर बैंक की पहुंच बढ़ाने के बाद PNB अगले 12 महीनों के भीतर अपनी 300 शाखाओं को या तो बंद कर सकता है या फिर उनकी जगह बदल सकता है।
पंजाब नेशनल बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील मेहता के अनुसार व्यापारिक रणनीति के लिहाज से घाटे में चल रही शाखाओं को मुनाफे वाली शाखाओं में बदलना हमारी प्राथमिकता है। हमने वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में एक ग्रुप बनाया है जो इस संबंध में एक विस्तृत अध्ययन कर ब्रांच नेटवर्क को तर्कसंगत बनाने के लिए रणनीति तैयार करेगा।

बैंक व्यापार संभावनाओं, आसपास के प्रतिस्पर्धी परिदृश्य और बैंक के व्यापार संवाददाता (बीसी) नेटवर्क की उपलब्धता पर विचार कर इस मसले पर अंतिम फैसला लेगा। सितंबर के अंत तक बैंक की 6,940 शाखाएं थीं।
वित्त वर्ष 2018 के छह महीनों के दौरान इसने तीन अन्य शाखाएं जोड़ी हैं और इसने इस आंकड़े को 6,940 कर लिया था। पीएनबी के अधिकारियों का कहना है कि डिजिटल बैंकिंग ने रफ्तार पकड़ी है और अपने बीसी नेटवर्क में विस्तार किया है जो कि बैंक को उसकी आउटरीच (पहुंच) बढ़ाने में मदद कर रहा है।
8 नवंबर 2017 को PNB के शेयर्स 0.79 फीसद की कमजोरी के साथ 189.25 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुए हैं। इसका दिन का उच्चतम स्तर 194.60 और निम्नतम 186.10 का स्तर रहा है। जबकि 52 हफ्तों का उच्चतम स्तर 231.60 और निम्नतम स्तर 112 का रहा है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *