टेरर फंडिंग : गिलानी के करीबी पर NIA की छापेमरी, हिरासत में लिया

 79 


राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने रविवार को कश्मीर घाटी में आतंकवादियों को धन मुहैया कराने के मामले में जम्मू में कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के करीबी व्यक्ति देवेंद्र सिंह बहल के दो स्थानों पर छापे मारे और बाद में बहल को हिरासत में ले लिया।
NIA ने बहल के घर से चार मोबाइल फोन, एक टेबलेट, इलेक्ट्रोक्सि डिवाइस और कई वित्तिय दस्तावेज बरादम किए हैं। संबंधित घटनाक्रम में ही NIA ने गिलानी के दूसरे बेटे नसीम को समन भेजकर बुधवार को एजेंसी के सामने पेश होने को कहा। जबकि उनके बड़े बेटे नयीम को सोमवार को ही NIA मुख्यालय तलब किया गया है।
अधिकारियों ने कहा कि NIA ने रविवार सुबह एक वकील के कायार्लय और आवास पर भी छापेमारी की है। उनकी विदेश यात्राओं पर पहले से नजर है और उनसे भी जल्द ही पूछताछ होगी।


आतंकवादियों के फंडिंग के मामले के संबंध में जम्मू में यह दूसरी छापेमारी है। इससे पहले एजेंसी ने एक कारोबारी के यहाँ छापा मारा था। NIA ने गिलानी के बड़े बेटे नयीम को सम्मन भेजकर आतंक को धन मुहैया कराने के मामले की जांच के संबंध में सोमवार को पूछताछ के लिए उसके सामने पेश होने को कहा। इस मामले में आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के मुखौटा संगठन पाकिस्तान स्थित जमात उल दावा के प्रमुख हाफिज सईद को आरोपी बनाया गया है।
NIA ने अपनी प्राथमिकी में हुर्रियत कांफ्रेंस (गिलानी और मीरवाइज उमर फारूकनीत धड़े), हिजबुल मुजाहिदीन और एक सर्वमहिला संगठन जैसे अलगाववादी संगठनों को नामजद किया है। पेशे से एक सर्जन नयीम पाकिस्तान में 11 साल बिताने के बाद 2010 में वापस लौटे थे। उन्हें अलगाववादी संगठनों के समूह गिलानी नीत तहरीक ए हुर्रियत का स्वाभाविक उत्तराधिकारी माना जा रहा है।
गिलानी के दामाद अल्ताफ अहमद शाह उर्फ अल्ताफ फंतूश को NIA द्वारा पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है और इस मामले में उससे पूछताछ की जा रही है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *