टेक इंडस्ट्री में भारतीय मूल के इन सीईओ का है ‘दबदबा’

 101 


दुनियाभर की टेक्नॉलजी कंपनियों की कामयाबी में भारतीय लंबे समय से अपना योगदान दे रहे हैं। दुनिया की कई बड़ी टेक्नॉलजी कंपनियां जैसे गूगल और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ भारतीय मूल के हैं। इसके अलावा भी कई ऐसे नाम हैं जो आज बड़ी टेक्नॉलजी कंपनियों के सीईओ हैं लेकिन ये भारतीय मूल के हैं। जानें बड़ी ग्लोबल कंपनियों के ऐसे ही टॉप सीईओ के बारे में जिनका जन्म भारत में हुआ।
1. सुंदर पिचाई, गूगल


भारत में जन्मे सुंदर पिचाई 10 अगस्त, 2015 को गूगल से सीईओ बने। 44 साल के पिचाई का जन्म चेन्नै में हुआ और पढ़ाई आईआईटी खड़गपुर (बीटेक), स्टैनफर्ड (एमएस) और वार्टन (एमबीए) में हुई। उन्होंने ही क्रोम वेब ब्राउजर लॉन्च किया। इससे पहले वह ऐंड्रॉयड, क्रोम, मैप्स और अन्य कई गूगल प्रॉजेक्ट्स के प्रॉडक्ट हेड रह चुके हैं।
2. शांतनु नारायण, अडोबी


हैदराबाद में जन्मे शांतनु ने 1998 में अडोबी को सीनियर वीपी ऑफ वर्ल्डवाइड प्रॉडक्ट रिसर्च के तौर पर जॉइन किया था। वह 2005 में सीओओ और 2007 में सीईओ चुने गए।
उनके पास उस्मानिया यूनिवर्सिटी से साइंस में बैचलर डिग्री और यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया से एमबीए की डिग्री की है। उन्होंने बोलिंग ग्रीन स्टेट यूनिवर्सिटी से एमएस भी की है।

3. सत्य नडेला, माइक्रोसॉफ्ट


सत्य नडेला को 2014 फरवरी में कंपनी का सीईओ नियुक्त किया गया था। इससे पहले वह माइक्रोसॉफ्ट के क्लाउड ऐंड एंटरप्राइज ग्रुप के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेजिडेंट थे। हैदराबाद में जन्मे 47 साल के नडेला ने मनीपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से बीई, यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन से एमएस और यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो बूथ स्कूल ऑफ बिजनस से एमबीए की है।
4. संजय झा, ग्लोबल फाउंड्रीज़


संजय झा जनवरी 2014 में कंपनी के सीईओ बने। इससे पहले वह मोटोरोला मोबिलिटी के सीईओ और क्वॉलकॉम के सीओओ रह चुके थे। उन्होंने मोटोरोला को को-सीईओ के तौर पर 2008 में जॉइन किया था। मोटोरोला से पहले वह 14 साल तक क्वॉलकॉम में जुड़े रहे।
बिहार के भागलपुर में जन्मे झा ने यूनिवर्सिटी ऑफ लिवरपूल से बीएस और यूनिवर्सिटी ऑफ स्ट्रैथक्लाइड से पीएचडी की है।

5. राजीव सूरी, नोकिया सल्यूशंस ऐंड नेटवर्क्स


राजीव सूरी 1995 में नोकिया से जुड़े और अप्रैल 2014 में प्रेजिडेंट और सीईओ चुने जाने से पहले कई पदों पर रहे। जब माइक्रोसॉफ्ट ने नोकिया का मोबाइल फोन बिजनस अधिग्रहित किया, तब वह नोकिया के सीईओ बने। इससे पहले वह कंपनी के इंडिया सर्विसेज डिविज़न के हेड थे।
भोपाल में जन्मे सूरी ने मनीपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से बीटेक की थी। उनके पास कोई पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री नहीं है।

6. जॉर्ज कूरियन, नेटऐप


जॉर्ज कूरियन जून 2015 में नेटऐप के सीईओ और प्रेजिडेंट बने। स्टोरेज और डेटा मैनेजमेंट कंपनी नेटऐप को जॉइन करने से पहले जॉर्ज सिस्को सिस्टम्स में थे।
उनका जन्म केरल के कोट्टायम जिले में हुआ था। आईआईटी मद्रास में ऐडमिशन लेने के 6 महीने बाद ही वह प्रिंसटन यूनिवर्सिटी चले गए थे। उन्होंने स्टैनफर्ड से एमबीए की डिग्री ली है।

loading…


Loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *