अपने बयानों से लगातार चर्चा में रहने वाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गंठबंधन और महागठबंधन की तुलना ‘नागराज’ और ‘सांपराज’ से की है.
बिहार के औरंगाबाद में एक कार्यक्रम में भाग लेने आये मांझी से जब पत्रकारों ने राजग और महागठबंधन के विषय में पूछा तो उन्होंने कहा कि देखिए, हम लोग कहते हैं न कि एक सांपराज होता है और एक नागराज होता है. नागराज के फूंफकारने से लोग मर जाते हैं और सांपराज अगर काट भी ले तो कहीं न कहीं मंत्र रहता है, जिससे आदमी बच जाता है.
मांझी से जब इसे और स्पष्ट करने के लिए कहा गया तो उन्होंने पत्रकारों से ही कहा आप लोग खुद समझदार हैं. इससे ज्यादा कुछ नहीं कहेंगे. मांझी के इस बयान को महागठबंधन पर लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर दबाव बनाने के रूप में देखा जा रहा है. इससे पहले भी मांझी कह चुके हैं कि अगर हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा को सम्मानजनक सीट नहीं मिलती तो उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी. मांझी की पार्टी इस साल के प्रारंभ में राजग को छोड़ महागठबंधन में शामिल हुई थी.
मांझी ने गया में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हो सकता है कुछ लोग इसका विरोध करें पर हम ट्रिपल तलाक का समर्थन करते है, लेकिन इसमें कुछ संशोधन की जरूरत है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वृषण पटेल के बयान पर कहा कि जब तक महागठबंधन में सीट शेयरिंग की बात साफ नहीं होती है तब तक सीट की बात करना उचित नहीं है. हर कोई सम्मान जनक सीट चाहता है, 14 जनवरी के बाद सीट शेयरिंग हो जाएगी.



loading…

Loading…






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *