भारत में सबसे लोकप्रिय ब्रांड में शुमार ‘Fair and Lovely’ को लेकर महाराष्ट्र के खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने एक चौंका देने वाला खुलासा किया हैl ये क्रीम Microbial Limit Test में फ़ेल हो गई हैl इस क्रीम की वार्षिक बिक्री दो हजार करोड़ रुपए से भी अधिक हैl ये ब्रांड FMCG कंपनी हिंदुस्तान लीवर के अंतर्गत आता है जो रोज़ाना इस्तेमाल किए जाने वाले कई घरेलू उत्पादों का उत्पादन करती हैl
हमारे समाज़ का कड़वा सच सांवला रंग, जिसके कारण कई शादियां टूट जाती हैंl  दिल और द़िमाग हो, न हो, इंसान का रंग गोरा होना चाहिएl समाज़ में सांवला रंग लेकर पैदा होना एक घोर अपराध जैसा लगता है, इससे रंगभेद को बढ़ावा मिला और इससे प्रेरित हो कुछ कंपनी ने गोरा करने के दावे शुरू किएl यहीं से चल पड़ा Fairness Cream के प्रचार की कहानीl भारत की 70 प्रतिशत आबादी सांवली है जो गोरे होने की झूठी दौड़ में शामिल कर दी जाती हैl

अभय देओल ने बहुत दिनों बाद सोशल मीडिया पर वापसी करते हुए बॉलीवुड के कई कलाकारों को आइना दिखाया हैl अभय ने गोरापन बढ़ाने वाली क्रीमों के खिलाफ़ एक मुहिम छेड़ दी हैl अभय ने अपने फेसबुक पेज पर कई हीरो-हीरोइनों के उन विज्ञापनों की फोटो डाली हैं, जो भारतीय रंग को नीचा दिखाते हुए गोरापन बढ़ाने का दावा करते हैंl
सालों पहले, सांवली त्वचा को गोरा करने का दावा लेकर जब ये क्रीम बाज़ार में आई, तो लोगों पर इसका जादू इस कदर चढ़ा कि आज भी लोग दुकान पर जाकर सबसे पहले ये पूछते हैं कि Fair & Lovely है क्या?  इस क्रीम की ब्रांड अंबेसडर ये दावा करती नज़र आती हैं कि अगर इस क्रीम को लगाने से आप गोरे नहीं हुए, तो कंपनी आपको करोड़ों रूपए ईनाम देगीl
महाराष्ट्र FDA के आयुक्त, हर्षदीप कांबले कहते हैं कि कंपनी के खिलाफ़ कार्यवाही की जाएगीl ‘Microbial Limit Test के लिए इसका नमूना मुंबई की एक दुकान से लिया गया और ये टेस्ट मानकों पर खरी नहीं उतरीl हम सभी जानते हैं कि, चमकने वाली हर चीज़ हीरा नहीं होतीl क्या जिन स्टार्स के एड देखकर हम प्रोडक्ट खरीदते हैं, वो स्वयं उसे इस्तेमाल करते होंगे? अपने अंदर Self Confidence रखिए, आप किसी भी रंग के हैं, अच्छे लगेंगेl दिखावे पर जाने और Fairness क्रीम का इस्तेमाल करने से भविष्य में आपकी त्वचा ख़राब होगीl

loading…



Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *