पटना मेट्रोपोलिटन प्लानिंग एरिया के अंतर्गत अब केवल आवासीय या व्यावसायिक श्रेणी में ही जमीन की रजिस्ट्री होगी, इस पुरे क्षेत्र में कृषि भूमि के निबंधन का प्रावधान समाप्त हो गया.
पटना जिला प्रशासन ने बिहार गजट में प्रकाशित पटना महानगर क्षेत्र की अधिसूचना को आधार मानते हुए इस पुरे क्षेत्र में कृषि भूमि की श्रेणी वाला प्रावधान खत्म कर पुरे क्षेत्र को आवासीय या व्यावसायिक श्रेणी का घोषित कर दिया है. इस एरिया के अधीन पड़ने वाले मौजों में अब सिर्फ आवासीय या व्यावसायिक श्रेणी में ही जमीन की रजिस्ट्री होगी. जिला अवर निबंधक सत्यनारायण चौधरी ने इस संबंध में पटना सिटी, दानापुर, बिक्रम, मसौढ़ी व फुलवारीशरीफ के अवर निबंधकों को निर्देश जारी कर दिए हैं.
पटना महानगर क्षेत्र के जिन इलाकों में अब तक कृषि भूमि के नाम पर रजिस्ट्री हो रही थी, अब वहां न्यूनतम आवासीय श्रेणी में रजिस्ट्री होने से रजिस्ट्रेशन शुल्क ढाई से छह गुणा तक बढ़ जायेगा. यानी इस निर्देश के बाद यहाँ जमीन की रजिस्ट्री महंगी हो जायेगी. उदाहरण स्वरूप इसके पूर्व फतुहा के कोलहर में जंहा 10500 रुपये प्रति डिसमिल न्यूनतम शुल्क लगता था अब वहाँ 60 हजार रुपये प्रति डिसमिल न्यूनतम शुल्क लगेगा. मेन रोड या व्यावसायिक श्रेणी के मामले में यह शुल्क और भी अधिक हो जाएगा.
पटना महानगर क्षेत्र की अधिसूचना के अनुसार योजना क्षेत्र के कुल 1167. 04 वर्ग किमी एरिया में सर्वाधिक 333.82 वर्ग किमी भूमि आवासीय क्षेत्र के लिए चिह्नित है. महानगर क्षेत्र में कुल 13 प्रखंड और 581 प्रशासनिक इकाइयां आती हैं. इसमें पटना नगर निगम, दानापुर, खगौल, फुलवारीशरीफ नगर परिषद व मनेर, फतुहा नगर पंचायत सहित कुल छह शहरी प्रशासनिक इकाइयां जबकि शेष 575 ग्रामीण प्रशासनिक इकाइयां हैं. पटना मेट्रोपोलिटन एरिया में जमीन को कृषि क्षेत्र में दिखा कर रजिस्ट्री कराने पर कार्रवाई होगी.
पटना महानगर (मेट्रोपोलिटन प्लानिंग एरिया) क्षेत्र की चौहद्दी उत्तर के पश्चिमी छोर में मनेर प्रखंड के रामपुर, हल्दीछपरा से होकर गंगा नदी में अवस्थित भू-भाग से होते हुए पूर्वी छोर में खुशरूपुर प्रखंड के हरदासपुर बिगहा तक. दक्षिण के पश्चिमी छोर में बिहटा प्रखंड के नत्थुपुर, मथुरामपुर, तरवन होकर नौबतपुर प्रखंड के चैनपुरा, मिश्रीचक, खरौना, मसौढ़ी प्रखंड के चक सदुल्लाह, पुनपुन प्रखंड के कुतुबपुर, नेवारचक, बांवक, सुंदरपुर, धनरूआ प्रखंड के चकजोहरा, फतुहा प्रखंड के नंदाचक होते हुए पूर्वी छोर में फतुहा प्रखंड के दौलतपुर तक.
पूरब के दक्षिणी छोर में फतुहा प्रखंड के दौलतपुर से जमालपुर, दनियावां प्रखंड के किसमरिया होते हुए उत्तरी छोर में खुशरूपुर प्रखंड के हरदासपुर बिगहा तक तथा पश्चिम के दक्षिणी छोर में बिहटा प्रखंड के नत्थुपुर से कौरिया, पाली होते हुए उत्तरी छोर में मनेर प्रखंड में हल्दीछपरा तक.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *