चचेरी बहन रेखा का नाम सृजन घोटाला से जुड़ने पर सुशील मोदी बोले मेरा उनसे कोई सम्बन्ध नहीं

 96 


बिहार में चर्चित सृजन घोटाला मामले में उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी की चचेरी बहन रेखा मोदी का नाम सामने आने के मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने साफ कहा है कि सृजन घोटाले में जिस रेखा मोदी का नाम लिया जा रहा है उससे उनका या उनके परिवार का कोई लेना-देना नहीं हैं.
बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा है कि रेखा मोदी मेरी चचेरी, फुफेरी, मौसेरी कुल दो दर्जन बहनों में से एक है जिसने मेरे ही ऊपर जुलाई 2010 में मेरे उप मुख्यमंत्री रहते हुए घरेलू हिंसा का एक झूठा मुकदमा (41/2010) व्यवहार न्यायालय पटना में दाखिल किया, जिसे माननीय न्यायालय ने घरेलू हिंसा का मामला नहीं पाते हुए खारीज कर दिया। माननीय न्यायालय के उस आदेश के विरूद्ध रेखा मोदी ने अपील दायर कर रखा है।
मेरे उप मुख्यमंत्री रहते 2010 में भाजपा से बांकिपुर विधान सभा क्षेत्र के उम्मीदवार नितिन नवीन के खिलाफ वो चुनाव लडी। 2010 में ही पटना की निवर्तमान DSP श्रीमती शीला ईरानी की वर्दी फाड़ दी जिसके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया और रेखा मोदी लगभग एक सप्ताह जेल में रही। अभी भी रेखा मोदी के खिलाफ एक दर्जन से ज्यादा मुकदमें विभिन्न न्यायालयों में चल रहे हैं।


सृजन घोटाले से जुड़ा कोई प्रमाण CBI को मिलता है कि उसके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जानी चाहिए। सृजन घोटाले में जांच एजेंसियों से पूरे मामले की जड़ में जाकर हर किसी दोषी को सजा दिलाने का आग्रह किया गया है। उन्होंने कहा कि रेखा मोदी से उनका कोई संबंध नहीं है। रेखा मोदी से हमारे रिश्ते कैसे रहे हैं, इस बारे में हमारे राजनैतिक विरोधियों से भी जानकारी एकत्रित की जा सकती है।
सुशील मोदी ने कहा कि उनके परिवार में करीब 40 भाई-बहन हैं, क्या यह सही है कि इनमें से किसी के भी अच्छे बुरे काम के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाए। परन्तु तेजस्वी यादव ने अपनी सगी बहन मीसा भारती को आधी दर्जन शेल कम्पनियों के माध्यम से पहले बेनामी सम्पत्ति इकट्ठा करने में मदद की और अब बचाने में लगे हुए हैं।
सृजन घोटाले की जांच एजेंसियों को सृजन के खाते से भुगतान कर बहुत बड़ी मात्रा में आभूषण खासकर हीरे के आभूषण की खरीदारी के सबूत मिले हैं। हीरे के ये आभूषण राजनेताओं और अधिकारियों के परिवारवालों को गिफ्ट दिया जाता था। जांच में पता चला कि पटना के एक ज्वेलर्स को हीरे के आभूषणों का भुगतान सृजन ने कभी सीधे और अधिकांश समय रेखा मोदी के एक कंपनी के माध्यम से किया था। रेखा मोदी का सृजन घोटाले की मुख्य आरोपी मनोरमा देवी से मधुर संबंध रहे है। दूसरी ओर रेखा मोदी लम्बे समय से सुशील मोदी के खिलाफ जहर उगलती रही हैं, जो फिलहाल गायब हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *