बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर अब भगवा ब्रिगेड के अराजक व आपराधिक तत्व गरीब हिन्दुओं को भी अपने हिंसक ताण्डव का शिकार बना रहे हैं और भाजपा सरकार की शासन-व्यवस्था उनके प्रति नरम रवैया अपनाकर उन तत्वों को बचाने का काम करती नजर आ रही है।
उन्होंने कहा कि हिन्दु युवा वाहिनी के नाम पर भी प्रदेश में काफी अराजकता फैलाई जा रही है तथा भाजपा सरकार यह सब कुछ स्वीकार करते हुए भी उन तत्वों के खिलाफ सख़्त कानूनी कार्रवाई नहीं कर पा रही है, यह गंभीर चिन्ता की बात है। बहुजन समाज पार्टी के उत्तराखण्ड प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ पार्टी की समीक्षा बैठक के बाद जारी बयान में उन्होंने कहा कि उाराखण्ड एक पड़ोसी राज्य है वहां के भी राजनीतिक व सामाजिक हालात काफी कुछ एक जैसे ही हैं। उत्तर प्रदेश की तरह ही उत्तराखण्ड में भी खासकर गरीबों, दलितों, पिछड़ों व ब्राह्मण समाज जातिवादी भेदभाव, राजनीतिक द्वेष व जुल्म-ज्यादती के शिकार बनाये जा रहे हैं और यह सब खुले तौर पर सरकारी संरक्षण में हो रहा है।
इस क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के जनपद गोरखपुर में बसपा विधायक विनय तिवारी के घर पर पुलिस का छापा राजनीतिक द्वेष का ताजा प्रमाण है। इसके अलावा दलित व पिछड़े वर्ग के लोगों को भी हर स्तर पर जातिवादी भेदभाव व ज्यादती का शिकार बनाया जा रहा है, जिसकी बसपा तीव्र निन्दा करती है। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं बल्कि गोरक्षा के नाम पर अब भगवा ब्रिगेड के अराजक व आपराधिक तत्व ग़रीब हिन्दुओं को भी अपनी हिंसक ताण्डव का शिकार बना रहे हैं और भाजपा सरकार की शासन-व्यवस्था उनके प्रति नरम रवैया अपनाकर उन तत्वों को बचाने का काम करती हुई नज़र आती है।
सहारनपुर जिले की जातिवादी दलित उत्पीड़न की घटनाओं के सम्बंध में भी प्रदेश की भाजपा सरकार का रवैया भी न्यायपूर्ण नहीं लग रहा है। इन मामलों में भाजपा के नेताओं व इनके मंत्रियों का रवैया भी स्वतंत्र व निष्पक्ष नहीं बल्कि पक्षपातपूर्ण ही महसूस होता है।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *