गुप्ताधाम में फंसे तीन हजार कांवरिए, एक की मौत

 93 


रोहतास जिला के गुप्ता धाम में जलाभिषेक करने पहुंचे करीब तीन हजार से अधिक शिव भक्त पहाड़ी नदी के तट पर फंस हगए हैं। जबकि एक कांवरिया की मौत नदी की तेज धारा में बह जाने से हो गई है।
सावन की तीसरी सोमवारी को गुप्ता धाम में जलाभिषेक करने के लिए पहुंचे लगभग साठ हजार कांवरियों में से तीन हजार से अधिक शिव भक्त पहाड़ी नदी के तट पर फंसे हुए हैं। गाजीपुर जिला के जंगीपुरा ग्राम निवासी सघम गुप्ता गुप्ताधाम में जलाभिषेक करने के बाद अपने घर लौटने के दौरान भुड़कुड़ा गांव के पास पहाड़ी नदी की तेज धारा में बह गये। ग्रामीणों ने उसकी लाश एक पेड़ पर फंसी पाई, जिसे बाद में पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए सासाराम सदर अस्पताल भेज दिया।


तीन हजार से अधिक कांवरिया जलाभिषेक करने के बाद घर लौटने के दौरान नदी के तट पर फंसे हुए हैं। वे सभी नदी का जलस्तर कम होने का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन, नदी में पानी कम नहीं हो रहा है। गुप्ता धाम विकास समिति के अनुसार रास्ते में पड़ने वाली दुर्गावती नदी, सुगवा नदी एवं भुड़कड़ा नदी के तट पर हजारों- हजार कांवरिया फंसे हुए हैं। लगातार बारिश के कारण सभी नदियां उफान पर हैं, उनका जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है। नदी पार करने के लिए बनाया गया चचरी का पुल भी बह गया है।
गुप्ता धाम विकास समिति के सदस्य फंसे कांवरियों को हर संभव सहयोग कर रहे हैं। पहाड़ी गांव के लोग भी कांवरियों की मदद कर रहे हैं। नदी के तट पर फंसे कई कांवरियों के पास खाने की कोई वस्तु भी नहीं है। पैसे का भी अभाव हो गया है। कुछ लोग पहाड़ पर बसे गांव में जाकर शरण लिए हुए हैं। लेकिन प्रशासन ने नदी के तट पर फंसे कांवरियों को अब तक बाहर निकालने का प्रयास भी नहीं किया है। बुधवार तक नदी के तट पर फंसे कांवरियों को निकालने का प्रयास नहीं किया गया, तो वे भोजन के अभाव में बीमार भी हो सकते हैं। प्रखंड विकास पदाधिकारी नीरज आंनद के अनुसार नदी के तट पर फंसे कांवरियों को निकालने की तैयारी की जा रही है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *