खूनी खेल खेलने वाले वामपंथियों का सफाया तय : सुशील मोदी

 84 


बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने केरल में कहा कि हिंसा की बुनियाद पर खड़े वामपंथियों का पूरी दुनिया से सफाया हो चुका है। भारत में भी केवल दो राज्यों त्रिपुरा और केरल में सिमट गए हैं और खुनी खेल खेलने वाले इन वामपंथियों का सफाया यहाँ से भी जल्द ही तय है।
वामपंथियों की हिंसा के खिलाफ 3 से 17 अक्तूबर तक 15 दिवसीय जनरक्षा पदयात्रा के दसवें दिन केरल के इट्टुमनोर से कोट्टयम तक आयोजित बारह किमी लम्बी पदयात्रा के बाद जनसभा को सम्बोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि भाजपा व RSS के कार्यकर्ता भी ईंट का जवाब पत्थर से देना जानते हैं, मगर हमारा विश्वास लोकतंत्र में हैं और हम अगले चुनाव में समूचे भारत से इनका सफाया कर जवाब देंगे।
श्री मोदी ने कहा कि कम्युनिस्टों का लोकतंत्र में कभी विश्वास नहीं रहा है। इसलिए किसी भी कम्युनिस्ट शासित देश में एकदलीय चुनाव प़द्धति को अपनाने के साथ ही नागरिक अधिकारों को छीनने, विरोध प्रदर्शनों पर रोक और अखबारों पर सेंसरशीप आम बात है।


श्री मोदी ने कहा कि RSS और भाजपा की बढ़ती ताकत से धबरा कर केरल में सरकार संरक्षित हिंसा में भाजपा व सहयोगी संगठनों के 120 कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं जिनमें मुख्यमंत्री पी विजयन के गृहजिला कन्नूर में ही हत्या की 84 घटनाएं हुई हैं। इनके खिलाफ विगत तीन अक्तूबर को कन्नूर से ही जनरक्षा पदयात्रा की शुरूआत भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने की और आज दसवें दिन की पदयात्रा में भी दस हजार से अधिक भाजपा व सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ता शामिल हुए हैं।
उन्होंने कहा कि बिहार में सीपीएम कभी पनप नहीं पायी, जिन थोड़े इलाकों में कम्युनिस्टों का प्रभाव था वहां किसी दूसरे को घुसने नहीं दिया जाता था। इसके बावजूद आज बिहार के कुछ क्षेत्रों में कभी ताकतवर रहने वाली कम्युनिस्ट पार्टी का कोई नामलेवा नहीं है। आने वाले दिनों में खूनी खेल खेलने वाले वामपंथियों का केरल से भी सफाया तय हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *