क्रिकेट मैदान की तरह सांसद सचिन तेंदुलकर ने अपने काम से दिया आलोचकों को जवाब

 73 


मीडिया और दुसरे सांसदों द्वारा की गई अपनी आलोचना का जवाब महानतम दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने एक अलग अंदाज़ में देते हुए राज्यसभा सांसद के रूप में मिले अपने पुरे वेतन और भत्ते को प्रधानमंत्री राहत कोष में दान किया है. उधर जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सचिन तेंदुलकर द्वारा सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास कोष से जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा जिले के एक स्कूल की इमारत के निर्माण हेतु 40 लाख रुपये देने के लिये आभार व्यक्त किया है.
प्रधानमंत्री ने इस सहृदयता के लिए सचिन का आभार व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा भेजे गये पत्र में लिखा गया है कि उनका यह योगदान संकटग्रस्त लोगों को सहायता पहुंचाने में बहुत मददगार होगा. तेंदुलकर ने अपने सांसद निधि का भी अच्छा उपयोग किया था. सचिन तेंदुलकर का कार्यकाल अभी हाल ही में समाप्त हुआ है. कई सांसदों ने सचिन की राज्यसभा में उपस्थिति के मामले में आलोचना की थी.
सचिन तेंदुलकर ने देश भर में 185 परियोजनाओं को मंजूरी दिया है, आवंटित कुल 30 करोड़ रूपये में से 7.4 करोड़ रुपया उन्होंने शिक्षा और ढांचागत विकास में खर्च किया है. सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत तेंदुलकर ने दो गांवों को गोद लिया था, जिनमें आंध्र प्रदेश का पुत्तम राजू केंद्रिगा और महाराष्ट्र का दोंजा गांव शामिल है.


सचिन तेंदुलकर बिना प्रचार-प्रसार में आए लोगों की मदद करते रहे हैं यह भी किसी से छिपा नहीं है. सामाजिक सरोकारों के प्रति और आम जनमानस से जुड़े काम के लिए उनके योगदान ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती सईद का भी दिल जीत लिया है. महबूबा मुफ्ती सईद ने अपने ट्विटर पर लिखा कि @सचिन_आरटी का शुक्रिया, जिन्होंने कश्मीर में एक स्कूल की इमारत के निर्माण के लिए एमपीलैड कोष का इस्तेमाल किया. वह मैदान के बाहर भी हम सभी को प्रेरित करना जारी रख रहे हैं.
ज्ञात है कि इस क्षेत्र के इस इकलौते स्कूल (इंपीरियल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट दुर्गमुल्ला) का निर्माण 2007 में हुआ था. जिसमें कक्षा एक से दस तक लगभग एक हजार छात्र पढ़ते हैं. तेंदुलकर के MPकोष से यहां दस कक्षाओं, चार प्रयोगशालाओं, प्रशासनिक ब्लॉक, छह प्रसाधन और एक प्रार्थना हाल का निर्माण किया हो रहा है. इससे पहले तेंदुलकर ने दक्षिण मुंबई के एक स्कूल के उन्नयन और कक्षाओं के निर्माण के लिए पैसा दिया था. तेंदुलकर ने देश के विभिन्न हिस्सों में स्कूल और शैक्षिक संस्थानों से जुड़ी कुल बीस परियोजनाओं में 7.4 करोड़ रुपये दिया है. तेंदुलकर निजी तौर पर भी कई NGO की मदद लगातार करते रहते हैं. सचिन शुरू से ही अपने निजी योगदान या मदद से जुड़ी खबरें मीडिया की सुर्खियां नहीं बनने देते.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *