मीडिया हत्यारी हो सकती है, ऐसा सोचा भी नहीं जा सकता पर जब उसकी रिपोर्टिंग से कोई आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाये तो क्या कहेंगे. केरल के कन्नूर में हाई स्कूल परीक्षा की टॉपर लड़की की मेहनत को दरकिनार करते हुए उसकी गरीबी को इतना ज़ोर-शोर से दिखाया गया कि लडकी ने आत्महत्या कर ली.
लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की इस करवाई से एकबारगी हमारा सर शर्म से झुक जायेगा. मीडिया ने TRP की होड़ में टॉपर लड़की की गरीबी को पुरे ज़ोर-शोर से दिखाया, मिडिया ने इस क्रम में लडकी के मेहनत, उसकी लगन और योग्यता को सलाम करने की आवश्यकता ही नहीं समझी. केरल के शिवपुरम हायर सेकेंडरी स्कूल, कन्नूर की छात्रा रफ़सीना ने परीक्षा के कुल प्राप्तांक 1200 में 1180 अंक प्राप्त किए थे. परिणाम घोषित होने के दो दिन बाद ही रफ़सीना के मल्लूर स्थित घर से उसकी लाश बरामद हुयी.
पुलिस को लाश के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें रफ़सीना ने मीडिया की तरफ़ इशारा करते हुए लिखा है कि उसकी गरीबी को बढ़ा चढ़ाकर दिखाया गया, जिसे उसने अपने सहपाठियों से छिपा कर रखा था. मीडिया द्वारा अपनी गरीबी को दिखाए जाने के कारण रफ़सीना अवसाद से ग्रसित हो गयी और आत्महत्या कर लिया.
रफ़सीना अपनी मां और दो भाई-बहनों के साथ एक कमरे के मकान में रहती थी. उसकी मां मज़दूर का काम करती है. परीक्षा में टाप करने के बाद बहुत से नेताओं और संगठनों ने उसकी आगे की पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप देने की घोषणा की थी.

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें

loading…

Loading…





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *