कांग्रेस हमेशा नफरत और घृणा की राजनीति करती है : रविशंकर प्रसाद

 72 


कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का कहना है कि राहुल गांधी घृणा और नफरत फैलाने की जिस तरह की राजनीति देश में करते है, वैसी ही राजनीति देश के बाहर भी जाकर करते हैं. राजनीतिक मतभेदों को देश के बाहर नहीं दिखाना चाहिए. पार्टी को अपनी बात रखनी चाहिए, लेकिन देश के भीतर पार्टी की बात रखना उनका अधिकार है. आलोचना करने का अधिकार है, लेकिन देश के बाहर जाकर ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए.
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि दिल्ली में एक तरफ प्रवासी भारतीयों का सम्मेलन चल रहा है और प्रधानमंत्री भारत के साथ दुनिया के संबंध कैसे अच्छे हो, इस पर बात कर रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ राहुल गांधी घृणा, नफरत की बात करते हैं. राहुल का बयान निंदनीय है, आलोचना के योग्य है. घृणा-नफरत के लिए हमारी सरकार पर आरोप लगाना ठीक नहीं है.
data-ad-slot=”2847313642″

रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी से सवाल पूछते हुए कहा कि तीन तलाक पर क्या कांग्रेस का स्टैंड प्यार वाला था या नफरत वाला था, यह उन को स्पष्ट करना चाहिए. नारी गरिमा न्याय को लेकर कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी एक स्टैंड नहीं ले सकते. लोकसभा में उन्होंने एक स्टैंड लिया, राज्यसभा में दूसरा स्टैंड लिया और राहुल गांधी हमारी पार्टी को पाठ पढ़ा रहे हैं. यह ठीक नहीं है. यह कांग्रेस के दोहरे मापदंड है. राजनीतिक वोट बैंक से प्रभावित हैं. बहरीन में जाकर हमको पदेश दे रहे हैं. राहुल के इस बयान की कड़ी आलोचना BJP करती है.
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी ने इससे पहले भी कई बार गलत बातें की है. राहुल गांधी ने कांग्रेस ने गुजरात में भी जातिवाद को बढ़ावा देने की राजनीति की है. रविशंकर प्रसाद का कहना है कि कांग्रेस ने समुदाय की राजनीति हमेशा से की है. कांग्रेस ने शाहबानो से शायरा बानो तक कांग्रेस का तुष्टिकरण का रवैया नहीं बदला है. कौन नफरत की राजनीति कर रहा है, यह साफ पता चलता है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...