दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में 6 घंटे से ज्यादा समय तक चली मुठभेड़ में सेना ने लश्कर ए तैयबा के तीन आतंकियों को मार गिराया है. इससे पहले सेना ने उत्तरी कश्मीर के एक इलाके में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया था. पिछले चौबीस घंटे में सेना ने पांच आतंकियों को मार गिराया है.
पुलवामा के काकापोरा इलाके में बुधवार की शाम को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई. सुरक्षा बलों के पास इनपुट था कि लश्कर के तीन आतंकी सघन आबादी वाले इलाके के एक घर में छिपे हुए हैं. ऑपरेशन के बाद घर को आग के हवाले कर जमीदोंज कर दिया गया. तीनों आतंकियों का शव बरामद कर लिया गया. उधर भीड़ ने सुरक्षाबलों का अभियान से ध्यान भटकाने के लिए उन पर पथराव किया.
तीनों आतंकियों की पहचान शारिक, माजिद मीर और इरशाद अहमद के रूप में हुई है. माजिद लश्कर से जुड़ा था और कई मासूम नागरिकों की हत्या में शामिल था. एक हफ्ते के दरम्यान सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर में लश्कर के 6 काडर को ढेर किया है. मुठभेड़ स्थल से सुरक्षा बलों को एके-47 राइफल और पिस्टल मिली है. काकापोरा में हुई इस मुठभेड़ में सेना के मेजर कार्तिक घायल हो गए हैं.

दूसरी ओर सेना ने जम्मू जिले के पल्लनवाला सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों की घुसपैठ की एक कोशिश नाकाम कर दी है. LOC पर तैनात सतर्क सैनिकों ने बुधवार को पल्लनवाला सेक्टर में कुछ संदिग्ध गतिविधियां देखी. हमारे सैनिकों ने उन पर गोलीबारी की, इसके जवाब में दूसरी ओर से भी गोलीबारी हुई और फिर वे नियंत्रण रेखा के पार भाग गए.
एक पुलिस अधिकारी के अनुसार पुलवामा में सुरक्षा बलों का यह पहला सफल ऑपरेशन है. पुलवामा आतंकियों का गढ़ है. यहां उनका एक मजबूत नेटवर्क है और ग्राउंड लेवल पर भी उनके लोग सक्रिय है. लश्कर के कमांडर जुनैद मट्टू के मारे जाने के बाद लश्कर ए तैयबा के लिए सेना का यह ऑपरेशन बड़ा झटका है. मट्टू को सेना ने 17 जून को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के अर्विन गांव में मार गिराया था.

इससे पहले सुरक्षाबलों ने उत्तरी कश्मीर में बारामुला जिले के सोपोर में हुई एक मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के दो आतंकवादियों को मार गिराया. मारे गए आतंकवादियों की पहचान इंद्रगाम निवासी बासित अहमद मीर और बरत सोपोर के गुलजार अहमद के तौर पर हुई है. अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने मंगलवार की रात इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया था.
आधी रात को खोजबीन अभियान रोक दिया गया था लेकिन सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा रखा ताकि आतंकवादी वहां से भाग न पाएं. अभियान सुबह फिर शुरू किया गया और वहां छिपे हुए आतंकवादियों द्वारा सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करने के बाद एक बार फिर मुठभेड़ शुरू हो गई. मुठभेड़ स्थल से दो एके राइफल, पांच एके मैगजीन, एके राइफल की 124 गोलियां, एक हथगोला और एक थैला बरामद किया गया है.

ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लाइक करें


loading…

Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *