लंदन में बेखौफ घूम रहे भगोड़े नीरव मोदी पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है. ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है. नीरव मोदी को लंदन पुलिस कभी भी गिरफ्तार कर सकती है. पुलिस 25 मार्च तक नीरव मोदी को कोर्ट में पेश करेगी.
दरअसल बैंकों का 13 हजार करोड़ लेकर फरार नीरव मोदी पिछले दिनों लंदन की सड़कों पर अपना लुक बदलकर बेखौफ घूमता दिखा था. जबकि उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो चुका है. इसके बाद ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया. सूत्रों से जानकारी मिली है कि वेस्टमिंस्टर कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद अब लंदन पुलिस नीरव मोदी को अपने गिरफ्त में ले लेगी. हालांकि गिरफ्तारी के बाद नीरव मोदी के पास जमानत के लिए कोर्ट जाने का विकल्प है. कोर्ट से नीरव को सशर्त जमानत मिल सकती है.
सूत्रों के मुताबिक अब भारत से सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम लंदन के लिए रवाना होगी. इस बीच नीरव मोदी मामले को लेकर CBI और ED की टीम लगातार UK अथॉरिटी और लंदन में मौजूद भारतीय हाई कमीशन के संपर्क में है.
लंदन की सड़कों पर नीरव मोदी के दिखने के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी बयान जारी किया था, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि हम नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को लेकर कार्यवाही कर रहे हैं. लंदन में वह दिख गया, इसका यह मतलब नहीं है कि हम उसको तुरंत भारत ले आएंगे. इसके लिए एक प्रक्रिया होती है, जो हम कर रहे हैं.
विदेश मंत्रालय ने कहा था कि हमने पिछले साल अगस्त में नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का अनुरोध किया था. हम अच्छी तरह से जानते हैं कि वह ब्रिटेन में है, अन्यथा हम यह अनुरोध नहीं करते. हमने ED और CBI से मिली जानकारी के आधार पर प्रत्यर्पण के लिए अनुरोध किया है, अभी ब्रिटेन की ओर से जवाब आना बाकी है.
नीरव मोदी को लेकर विपक्षी पार्टियां केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार आरोप लगाती रही हैं. उनका कहना होता है कि सरकार की नाकामी की वजह से नीरव मोदी लंदन भागने में सफल रहा. दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई बार कह चुके हैं जो भी लोग भारत के पैसे लेकर भाग गए हैं, उन्हें सरकार भारत लाएगी. इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट की तरफ से वारंट जारी करने से एक उम्मीद बंध रही है कि नीरव मोदी की गिरफ्तारी हो सकती है. इसके बाद उसका प्रत्यर्पण भी हो सकता है.


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *