पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कम्पलेक्स में 64 वीं राष्ट्रीय विद्यालय कबड्डी प्रतियोगिता का उद्घाटन करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कबड्डी, खो-खो और फुटबॉल जैसे भारतीय खेलों को बढ़ावा देने की जरूरत है. कबड्डी के खेल में किसी संसाधन या पैसे की जरूरत नहीं पड़ती है बल्कि खिलाड़ी अपने दम पर प्रदर्शन करते हैं. प्रो कबड्डी टूर्नामेंट के टी वी पर प्रसारण से कबड्डी गांव-गांव तक पहुंच गयी है और अब इस खेल में शोहरत और पैसा दोनों हैं.
मोदी ने कहा कि क्रिकेट इंग्लैंड का खेल है, आमतौर पर किक्रेट उन्हीं देशों में खेला जाता है जो कभी न कभी ब्रिटेन के अधीन रहे हैं. दुनिया के ताकतवर देश अमेरिका, जर्मनी, जापान आदि क्रिकेट नहीं खेलते हैं. क्रिकेट के साथ-साथ भारतीय खेलों को भी प्रोत्साहित करने की जरूरत है. इस मौके पर कला-संस्कृति व युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने भी खिलाड़ियों को सम्बोधित किया.
प्रतियोगिता में भाग ले रहे बिहार, प. बंगाल, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, तमिलनाडु, राजस्थान, पंजाब, मध्यप्रदेश, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, गुजरात, दिल्ली, दादर नागर हवेली, छत्तीसगढ़ व आन्ध्र प्रदेश तथा सीबीएससी व नवोदय विद्यालय समिति के छात्रों का स्वागत करते हुए मोदी ने कहा कि ‘अलग भाषा, अलग वेश, फिर भी अपना एक देश’ तथा ‘ पटना हो या हो गौहाटी, अपना देश, अपनी माटी’ की झांकी यहां उपस्थित है. साथ ही उन्होंने खिलाड़ियों को आश्वस्त किया कि तीन दिन के इस आयोजन में उन्हें कोई असुविधा नहीं होने दी जाएगी.
सुशील मोदी ने आज ट्वीट किया कि राजद के राजकुमारों ने अपने माता-पिता से बिना प्रमाण के आरोप लगाना, अमर्यादित शब्दों का प्रयोग करना और गरीबों को धोखा देकर बेनामी सम्पत्ति बनाना सीखा है, इसलिए वे मेरे स्वामित्व वाले किसी कथित होटल की जांच कराने की मांग कर रहे हैं. यदि वे आरोप सिद्ध नहीं कर पाये, तो क्या पटना में 750 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला माल मेरे नाम करेंगे? कांग्रेस और राजद के लोग केवल झूठ के दुष्प्रचार की राजनीति करने में लगे हैं.
एक अन्य ट्वीट में कहा कि बिहार में राजद सरकार के समय हुए अलकतरा घोटाला में तत्कालीन पथ निर्माण मंत्री इलिहास हुसेन सहित सात लोगों को CBI की अदालत ने 5-5 साल कैद की सजा सुनाई और 20 से 60 लाख रुपये तक का जुर्माना भी लगाया. सत्ता का दुरुपयोग कर जनता को लूटने वालों को जिस दिन रांची में सजा सुनाई गयी, उसी दिन राजद का एक विधायक दिल्ली में कारतूस के साथ पकड़ा गया. 22 साल में भी जिस दल का आपराधिक चरित्र नहीं बदला, वह किस मुंह से गरीबों के नाम पर वोट मांगता है?


loading…

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *