पार्टी से निष्काशीत आप नेता कपिल मिश्रा आप नेताओं के विदेश दौरे की फंडिंग का सोर्स बताने के लिए बुधवार को अनशन पर बैठ गए। कपिल की मांग है कि केजरीवाल सरकार द्वारा संजय सिंह, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन, राघव चड्ढा और दुर्गेश पाठक के विदेश दौरे की जानकारी सार्वजनिक की जाए।
कपिल ने कहा कि यहां अकेला बैठूंगा। जब तक जानकारियां सार्वजनिक नहीं होंगी, कुछ नहीं खाऊंगा। सिर्फ पानी पिऊंगा, अन्न ग्रहण नहीं करूंगा। जानता हूं कि मेरे मर जाने से आपको कोई फर्क नहीं पड़ेगा। अब वही रटा-रटाया जवाब नहीं चलेगा कि मैं BJP का एजेंट हूं और मैंने ये सवाल पहले क्यों नहीं पूछे।
उन्होंने कहा कि अनशन पर इसलिए बैठा हूं, क्योंकि ये सब तो उनसे ही सीखा है। आरोप लगने के बाद से केजरीवाल चुप ही हैं। मनमोहन सिंह के बाद चुप रहने वाले केजरीवाल दूसरे शख्स हैं। जब तक डिटेल नहीं दे देते, तब तक यहीं बैठा रहूंगा। हिलने वाला नहीं हूं। पहले कहा गया था कि हमारे पास चुनाव लड़ने के लिए पैसा नहीं है, तो ये पैसा कहां से आया?
कपिल ने कहा मैं भी दिल्ली सरकार में मंत्री था, लेकिन कभी विदेश नहीं गया। आप के 5 नेता हैं जिन्होंने विदेश दौरे किए। ये वहां क्यों गए, कहां रुके? दौरों के लिए पैसा कहां से आया? आपके पास कुछ छिपाने के लिए नहीं है तो इसका डिटेल दें। मुझे धमकियां भी मिल रही हैं। धमकी भरा एक फोन तो इंटरनेशनल नंबर से भी आया, लेकिन मैं डरने वाला नहीं हूं।

सीबीआई में मिश्रा ने तीन शिकायत की, जिसमें तीन शिकायतों में केजरीवाल के रिश्तेदार की 50 करोड़ की लैंड डील, आप नेताओं के विदेशी दौरे और केजरीवाल द्वारा 2 करोड़ रुपए नकद लेने के मामले शामिल हैं। हाँलाकि सीबीआई कोर्ट के ऑर्डर पर ही कोई केस ले सकती है या फिर राज्य सरकार उसके पास केस भेजती है। दिल्ली केंद्र के तहत है, ऐसे में, संभावना है कि मिश्रा की कम्प्लेंट पर जांच शुरू हो जाए। 11 मई को मिश्रा एसीबी के सामने टैंकर घोटाले में अपना बयान दर्ज कराएंगे।
कपिल ने शनिवार को कैबिनेट से निकाले जाने से पहले ट्वीट कर बता दिया था कि वो रविवार को भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ा खुलासा करने वाले हैं। हाँलाकि अपने पहले ट्वीट में सिर्फ वाटर टैंकर घोटाले का जिक्र किया था।
रविवार सुबह कपिल LG अनिल बैजल से मिले और केजरीवाल सरकार में चल रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ बयान दर्ज कराकर ट्वीट किया कि- “चुप रहना असंभव था। LG को सब बता दिया। मैंने उन्हें गलत तरीके से पैसे लेते देखा।”
इसके बाद वह राजघाट पहुंचे और महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद मीडिया को बताया- “केजरीवाल ने मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपए नकद लिए हैं। केजरीवाल के घर पर मैंने ये घटना अपनी आंखों से देखी है। मैंने पूछा कि ये क्या है तो केजरीवाल जी ने कहा कि राजनीति में कुछ बातें होती हैं, जो सही समय आने पर ही बताई जाती हैं। मैंने कहा कि आप क्षमा मांगें, गलतियां हो जाती हैं, लेकिन वह शांत रहे। मिश्रा ने यह भी कहा कि सत्येंद्र ने मुझे बताया था कि उन्होंने केजरीवाल के एक रिश्तेदार के लिए 50 करोड़ रुपए की लैंड डील करवाई है।
सोमवार शाम को CM के घर PAC की हुयी मीटिंग में उन्हें पार्टी की प्राइमरी मेंबरशिप से सस्पेंड कर दिया गया। कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नाम एक खुली चिट्ठी भी लिखी है।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *