एक्सिस बैंक में 4000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी

 79 


पीएएल के तीन निदेशक भवरलाल भंडारी, प्रेमल गोरागांधी और कमलेश कानूनगो के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. इनके खिलाफ लेटर ऑफ क्रेडिट से लोन फ्रॉड करने का आरोप है.
एक्सिस बैंक की द्वारा इनके अलावा अन्‍य निदेशकों अमिताभ पारेख, राजेंद्र गोठी, देवांशु देसाई, किरन पारेख और विक्रम मोरदानी के खिलाफ भी शिकायत दर्ज कराई गयी है, इनमें अमिताभ पारेख की 2013 में मौत हो चुकी है.
data-ad-slot=”2847313642″

इंडियन ओवरसीज बैंक की शिकायत पर सीबीआई पहले से ही पीएएल के खिलाफ जांच कर रही है. बैंक ने आरोप लगाया था कि पीएएल एक रीयल इस्‍टेट डेवलपर्स को फंड डाइवर्ट कर रही थी. भरोसा जीतने के लिए कंपनी ने पहले बैंक से 125 करोड़ रुपये का लोन लेकर उसे टाइम पर चुका दिया, बाद में कंपनी ने बोर्ड ऑफ डाइरेक्‍टर्स की बोर्ड की एक फर्जी मीटिंग के दस्‍तावेज पेश करके लोन लिया. जबकि ऐसी कोई मीटिंग वास्‍तव में हुई ही नहीं थी.
शार्ट टर्म लोन समय पर चुका कर पीएएल ने बैंक का भरोसा जीता, इसके बाद बैंक ने कंपनी को कच्‍चा माल और उपकरण खरीदने के लिए लेटर ऑफ क्रेडिट जारी कर दिया. एक्सिस बैंक सहित कुल 22 बैंकों ने इस कंपनी को लोन मुहैया कराया. एक्सिस बैंक ने कंपनी के खिलाफ आर्थिक अपराध शाखा में एफआईआर दर्ज कराया है.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें


loading...


Loading...