अश्विन ने क्रिकेट इतिहास में सबसे तेज 300 विकेट पूरा किया, लिली और मुरलीधरन का रिकार्ड ध्वस्त

 59 


नागपुर टेस्‍ट में टीम इंडिया ने गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी दोनों ही क्षेत्रों में मेहमान श्रीलंका की जमकर खबर लेते हुए पारी के अंतर से जीत हासिल की है. यह मैच ऑफ स्पिनर आर. अश्विन के लिए एक विशेष उपलब्धि वाला साबित हुआ. उन्‍होंने अपने 54वें टेस्‍ट में सबसे तेजी से टेस्‍ट क्रिकेट में 300 विकेट लेने वाले बॉलर बनने की उपलब्धि हासिल की.
मैच के चौथे दिन मेहमान टीम अपनी दूसरी पारी में 49.3 ओवर में 166 रन पर आउट हो गई. मैच में उसे एक पारी और 239 रन के अंतर से हार झेलनी पड़ी. श्रीलंका टीम पहली पारी में 205 रन बनाकर आउट हुई थी जिसके जवाब में भारतीय टीम ने पहली पारी छह विकेट पर 610 रन बनाकर घोषित की थी. इस मैच में पिछले दिनों अपनी लय पाने के लिए काउंटी क्रिकेट का रुख करने वाले स्पिनर रविचंद्रन अश्विन क्रिकेट इतिहास में विकेटों की सबसे तेज ट्रिपल सेंचुरी बनायी. अश्विन ने वह कारनामा कर दिखाया, जिसे महानतम गेंदबाज डेनिस लिली, मुथैया मुरलीधरन, अनिल कुंबले और हरभजन सिंह भी नहीं कर सके थे.

नागपुर टेस्ट से पहले अश्विन के खाते में 292 विकेट थे. अश्विन ने पहली पारी में चार और दूसरी पारी में भी चार कुल आठ विकेट चटकाकर टेस्ट में सबसे तेज तीन सौ विकेट लेने का कारनामा कर दिया. इसी के साथ अश्विन ने वह इतिहास रच दिया, जिसे मिटा पाना दुनिया के किसी भी गेंदबाज के लिए बहुत मुश्किल होगा.
अश्विन से पहले टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से तीन सौ विकेट लेने का कारनामा ऑस्ट्रेलिया के डेनिस लिली (56 टेस्ट) ने किया था. स्पिनरों में श्रीलंका के महान ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को तीन सौ विकेट लेने में 58 टेस्ट लगे थे. अश्विन ने पारी में पांच विकेट लेने का कारनामा 26 बार किया तो मैच में दस विकेट 7बार लिए.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *