अरबपति चपरासी की संपत्ति देखकर भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो दंग

 69 



आंध्र प्रदेश में एक चपरासी ‘के नरसिम्‍हा रेड्डी’ के पास से सौ करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति मिली है. जिसमें 18 प्‍लॉट, 50 एकड़ खेत, 7.70 लाख रुपए नगद, बैंक में 20 लाख रुपए, दो किलो सोना और एक करोड़ रुपए की LIC पॉलिसी मिली है.
नेल्‍लोर डिप्‍टी ट्रांसपोर्ट कमिश्‍नर के आफिस में अटेंडेंट पद पर तैनात के नरसिम्‍हा रेड्डी की संपत्ति देखकर जांच अधिकारी भी हैरान हैं. रेड्डी की पगार 40 हजार मासिक से कम ही है. भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो (ACB) उसके खिलाफ तब से जाँच कर रहा था जब उसने विजयवाड़ा के एक बड़े शोरूम से सात किलो से ज्‍यादा चांदी और सोने के आभूषण एकसाथ खरीदे थे. तब तक रेड्डी ने अपना 18वां प्‍लॉट भी खरीदा. उसने अब तक जीतने भी रेजिडेंशियल प्‍लॉट खरीदे हैं उनमें कोई भी 250 स्‍क्‍वायर यार्ड से कम का नहीं है.


रेड्डी के आवास पर जब ACB ने छापा मारा तब इसके अकूत सं‍पत्ति की जानकारी सामने आई. उसने 18 प्‍लॉटों की रजिस्‍ट्री अपनी पत्‍नी व रिश्‍तेदारों के नाम करा रखी थी. 1984 से वो सरकारी सेवा में है, तब उसकी मात्र 650 रुपए मासिक मिलता था. अपने 34 साल की नौकरी में वह एक ही स्थान पर उसी दफ्तर में तैनात रहा जहां उसकी भर्ती हुई थी. दफ्तर में उसकी हैसियत का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसकी मर्ज़ी के बगैर कोई भी फाइल अपनी जगह से नहीं हिलती है.
जब भी उसका प्रमोशन होता हर बार वह इंकार कर देता, क्‍योंकि उसको वहाँ मनचाही नाजायज़ कमाई हो रही थी. रेड्डी ने 1992 से ही प्‍लॉट खरीदना शुरू कर दिया था जबकि बीते दस साल से सोने और चांदी में भी अपनी काली कमाई लगाने लगा था. उसने नेल्‍लोर सिटी के पॉश इलाके में 3300 स्‍क्‍वायर फुट का दो मंजिला पेंटहाउस खरीदा है.
चंद दिनों पूर्व मध्य प्रदेश के इंदौर में लोकनिर्माण विभाग के एक करोड़पति टाइमकीपर गुरु कृपाल सिंह (सेलरी 22 हजार) के पास 22 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति होने का खुलासा हुआ है. इसके पास 14 मकान, 20 एकड़ जमीन, बड़ी मात्रा में सोने चांदी के जेवरात, लाखों के घरेलू सामान के साथ ही कई स्थानों पर आवासीय भूखंड होने के दस्तावेज मिले हैं. बड़ी मात्रा में सोने चांदी के जेवरात भी मिले हैं.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *