अमेरिका पर निर्भरता के दिन लद गए : पाकिस्तानी प्रधानमंत्री

 50 


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने कहा कि रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए अमेरिका पर निर्भर रहने के दिन लद गए हैं। इन जरूरतों को पूरा करने के लिए दूसरे विकल्प भी हैं। साथ ही अब्बासी ने कहा कि पाकिस्तान दूसरे देशों की तरह अमेरिका के साथ बराबरी वाला संबंध या साझेदारी चाहता है।
अमेरिका के साथ तल्ख होते रिश्तों के बीच अरब न्यूज को दिए इंटरव्यू में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि दुनिया को आतंकवाद के खिलाफ जंग में पाकिस्तान के प्रयासों को स्वीकार करना चाहिए। अब्बासी ने कहा कि अगर एक स्रोत बंद हो जाता है तो दूसरे स्रोत की ओर जाने के अलावा हमारे पास कोई विकल्प नहीं बचता है। इसके लिए भले ज्यादा कीमत चुकानी पड़े लेकिन हमें इस लड़ाई को लड़ना ही होगा। हमारी सेना में बड़ी संख्या में अमेरिकी हथियार हैं, लेकिन इसी के साथ हमारे पास विविधता भी है। हमारे पास चीनी और यूरोपीय हथियार भी हैं। अभी हाल में हमने पहली बार रूस के लड़ाकू हेलीकॉप्टरों को अपनी सेना में शामिल किया है।


अब्बासी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि हम यह यकीन नहीं करते हैं कि पाकिस्तान-अमेरिका संबंधों के बीच भारत को लाए जाने से किसी मसले, खासतौर पर अफगानिस्तान मामले के समाधान में मदद मिलेगी। अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के लिए अमेरिका की नई नीति में भारत को शामिल किया जाना क्षेत्र के लिए नुकसानदायक होगा। हमारी नजर में यहां भारत के लिए कोई भूमिका नहीं है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading...


Loading...



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *