अपनी जिंदगी दांव पर लगाकर सेना के जवानों ने बचाई 200 बच्चों की जिंदगी

 61 

जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से पाकिस्तान लगातार फायरिंग कर रहा है। नियंत्रण रेखा पर नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से मोर्टार भी दागे जा रहे हैं।
जिसके चलते इलाके के 9 स्कूलों में करीब 200 बच्चे और स्कूल स्टाफ से सदस्य फंस गए। सभी बच्चों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। बच्चे करीब 10 घंटे तक फंसे रहे। राजौरी एसएसपी की निगरानी में रेस्क्यू ऑपरेशन हुआ। इसके अलावा नौगाम सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ हो रही गोलीबारी में सेना का एक जवान शहीद हो गया।
नौशेरा सेक्टर के भिवानी में सरकारी हाई स्कूल में करीब 150 बच्चे फंसे थे। जब पाकिस्तान की तरफ मोर्टार दागे गए और फायरिंग शुरू की गई तब ये बच्चे स्कूल में ही मौजूद थे। जिसके बाद एहतियातन स्कूल स्टाफ बच्चों को स्कूल में रोका गया है। करीब 25 स्कूल स्टाफ मेंबर्स और टीचर्स भी स्कूल में मौजूद थे।
सभी को स्कूल से निकालकर सुरक्षित जगह ले जाने के लिए बुलेट प्रूफ गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया। एलओसी से इस स्कूल की एरियल दूरी महज 3 किलोमीटर है। सीमा पार से हमले के बाद भारतीय सुरक्षाबल रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया।

यह भी पढ़ें : नाग से मौत की लड़ाई लड़ा कुत्ता, वफादारी से बचा ली 7 जवानों की जिंदगियां

यह भी पढ़ें : खतरनाक हथियारों के मामले में भारत ने दुनिया के सभी देशों को पीछे छोड़ा

यह भी पढ़ें : राजस्थान में शादी का अनोखा कार्ड, छपवाए मोदी मिशन के नारे

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *