समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आज स्वयं कहा कि अखिलेश अब अपना वायदा निभाएं। उन्होंने कहा था कि तीन महीने के बाद सब नेताजी को सौंप देंगे, उन्होंने ऐसा किया नहीं, वादा तोड़ दिया।
मुलायम सिंह यादव ने गुरुवार को आगरा में पत्रकारों के एक सवाल पर कहा कि- ‘हमसे क्या पूछ रहे हो। ये सवाल अखिलेश से पूछो। उन्होंने तीन महीने की बात कही थी। बोले थे कि इसके बाद सब नेताजी को सौंप देंगे। उन्होंने ऐसा नहीं किया। वादा तोड़ दिया है।’ पिता-पुत्र के बीच जारी रस्साकशी में मुलायम ने यह कहकर संघर्ष और तेज कर दिया कि अखिलेश अब अपना वायदा निभाएं।
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी के सवाल पर कहा कि प्रधानमंत्री इसका प्रयोग बंद कराएं। इस मशीन को जापान से मंगाया गया है। जबकि जापान में खुद बैलेट पेपर से वोट डाले जाते हैं। लोग कह भी रहे हैं कि हमने वोट कहीं दिया और पड़ा कहीं और, गड़बड़ी की आशंका है। सभी पार्टियां कह रही हैं तो PM को इसका इस्तेमाल बंद कराना चाहिए। यह मशीन धोखेबाज है।

पूर्व मंत्री शिवपाल यादव द्वारा सेकुलर मोर्चा का गठन और मुलायम को अध्यक्ष बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है। सत्यता यह है कि हमारी शिवपाल यादव से कोई बात नहीं हुई है।
पाकिस्तानी बर्बरता के सवाल का जवाब देते हुए मुलायम सिंह अयोध्या पहुंच गए और कहा कि वे कड़े फैसले लेने में कभी चूके नहीं। वर्षों पूर्व कारसेवकों पर कार्रवाई का उन्हें दुख है, 16 जानें जाने का अफसोस है। लेकिन वे मजबूर थे, सुप्रीम कोर्ट ने यथा स्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था। अदालत के आदेश के अनुपालन में ऐसा हुआ।
अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी का नेतृत्व और राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के सवाल पर कहा कि लोकसभा चुनाव में अभी दो साल हैं, जब एक साल रह जाएगा तब मिलकर नेता चुन लेंगे। राष्ट्रपति पद के लिए जो योग्य और पसंद का प्रत्याशी होगा, सभी की राय लेकर घोषित कर दिया जाएगा।

loading…



Loading…




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *