अखिलेश राज में UPPSC भर्तियों की CBI जांच होगी : योगी आदित्यनाथ

 74 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य विधानसभा में ऐलान किया कि प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा 2012 से अब तक की गयी नियुक्तियों की CBI जांच करायी जाएगी.
योगी ने 2017—18 के बजट पर चर्चा के अंत में कहा कि अपराधियों को संरक्षण देने वालों के खिलाफ भी कड़ा कानून बनाया जाएगा और अगर मौजूदा सत्र में इस आशय का विधेयक पारित नहीं हो पाया तो इसके लिए विधानसभा का अगला सत्र जल्द बुलाया जाएगा.
पूर्व की सपा सरकार पर हमलावर तेवर अपनाते हुए योगी ने कहा कि आपने (सपा) UPPCS का क्या कर दिया? इसकी विश्वसनीयता पर प्रश्न उठ रहे हैं, हम UPPCS में 2012 से अब तक हुई सभी नियुक्तियों की CBI जांच कराएंगे .
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2012 से अब तक एक भी ऐसी नियुक्ति नहीं है, जिसे लेकर उंगली ना उठ रही हो. पुलिस के डेढ लाख पद खाली पडे़ हैं क्योंकि आपके (सपा) इरादे साफ नहीं थे और उच्चतम न्यायालय ने नियुक्तियों पर रोक लगा दी. उन्होंने कहा कि पिछले चार महीने के दौरान अपराध का ग्राफ गिरा है. मौजूदा सरकार के आते ही शत प्रतिशत FIR दर्ज हो रही है.
आजमगढ में जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की घटना का उल्लेख करते हुए योगी ने विपक्षी बेंचों पर बैठे सपा सदस्यों से सवाल किया कि क्या इस प्रकरण में गिरफ्तार व्यक्ति के सपा से संबंध नहीं हैं? वह राजनीतिक संरक्षण में फल फूल नहीं रहा था? मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ऐसे अपराधियों के खिलाफ ना सिर्फ कार्रवाई करेगी बल्कि उन्हें संरक्षण देने वालों के खिलाफ कड़ा कानून भी लाएगी.
उन्होंने कहा कि सीतापुर और रायबरेली की हाल की हत्याओं के प्रकरणों में अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त था. योगी ने कहा कि बजट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंत्र ‘सबका साथ सबका विकास’ को अपनाया गया है और बिना किसी भेदभाव के समाज के हर वर्ग के लिए इसमें प्रावधान किया गया है. उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार राज्य का इतना बड़ा बजट पेश किया गया है. इसे किसानों की 36000 करोड रूपये की ऋण माफी के लिए भी याद किया जाएगा.
उन्होंने कहा कि सरकार अयोध्या, काशी, मथुरा और वृन्दावन जैसे धार्मिक स्थानों एवं बुद्ध सर्किट पर पड़ने वाले पवित्र स्थलों का विकास कराएगी . उनके इतना कहते ही सदन में सत्तापक्ष के सदस्यों ने ‘हर हर महादेव’, ‘जय श्रीराम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये .
मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट में हर विभाग को पिछली बार की तुलना में अधिक राशि का आवंटन किया गया है. उन्होंने विपक्ष की ओर इशारा करते हुए तंज कसा कि आपका विकास से कोई लेना देना नहीं है. आपको केवल अपने विकास की चिन्ता है. गनीमत कीजिए कि हम श्वेत पत्र नहीं लाये, अन्यथा जिस दिन श्वेत पत्र जारी कर देते, अभी तक तो कांग्रेस मुक्त भारत की बात होती है, कहीं ऐसा ना हो जाए कि उत्तर प्रदेश सपा- बसपा मुक्त हो जाए.
सदन में मौजूद ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा की तारीफ करते हुए योगी ने कहा कि गांवों और शहरों में बिना किसी भेदभाव के बिजली आपूर्ति हो रही है. अगर देवाशरीफ में बिजली जा रही है तो महादेवा मंदिर में भी बिजली दी जाएगी. योगी के करीब दो घंटे के भाषण से असंतुष्ट विपक्षी सदस्यों ने हालांकि सदन से वाकआउट किया. प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने सदन में पिछले सप्ताह बजट पेश किया था.
हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए Pileekhabar के Facebook पेज को लाइक करें

loading…


Loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *